यहां किसानों की फसलों पर कहर बरसा रहे ये पशु

Dharmendra Ramawat

Updated: 17 Jan 2019, 11:29:43 AM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

चितलवाना. खरीफ की सीजन में अकाल की स्थिति झेलने के बाद रबी की बुवाई करने वाले किसानों में एकबारगी खुशी जरूर है, लेकिन इन दिनों क्षेत्र में आवारा पशुओं के आतंक ने किसानों की नींद उड़ा रखी है। उपखण्ड के गांवों में किसानों की ओर से रबी की बुवाई के बाद गेहूं, रायड़ा, जीरा, ईसब व अरण्डी की फसल पर फूल निकल आए हैं। मगर खेतों में सूअरों व नीलगायों की ओर से रात के समय फसल उजाडऩे के डर से किसानों को भयंकर सर्दी में भी रातभर जाग कर निगरानी करनी पड़ रही है। पूरी सीजन में अगर किसान एक रात भी फसलों की निगरानी से चूक जाते हैं तो उनकी पूरी फसल ये पशु चट कर देते हैं।
घूमते पशु बन रहे हादसे का कारण
क्षेत्र में गांवों के आम चौहटे पर बेसहारा पशुओं के विचरण करने के कारण कई बार रात के समय वाहनचालकों और राहगीरों को सड़क तक नजर नहीं आती है। जिससे वाहनचालक और पशु हादसे का शिकार हो रहे हैं।
जंगली जानवरों से भी किसान परेशान
किसानों की ओर से नर्मदा नहर से रबी बुवाई करने के बाद में क्षेत्र में जंगली पशुओं व नीलगायों की तादाद भी बढ़ गई है। जिससे किसानों को रातभर जागकर फसलों की रखवाली करनी पड़ती है। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें फसलों में नुकसान का अंदेशा बना लगा रहता है।
हर गांव के चौहटे पर ऐसी ही हालात
पंचायत समिति क्षेत्र के गांवों की बात करें तो यहां करीब-करीब हर गांव के आम चौहटे पर इन पशुओं का झुण्ड नजर आता है। रात होते ही ये पशु खेतों की ओर झुण्ड में निकल पड़ते हैं। ऐसे में गांव में किसानों को फसलों की रखवाली के लिए रातभर जागते रहना पड़ रहा है। इधर, हर गांव के आम चौहटे पर इन पशुओं की संख्या भी दिनों दिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में इस समस्या का समाधान नहीं होने से किसानों की परेशानी भी बढ़ रही है।
इनका कहना...
किसानों ने रबी की बुवाई कर रखी है, लेकिन आवारा पशुओं व जंगली जानवरों के डर से रातभर जाग कर फसलों की निगरानी करनी पड़ रही है। इस समस्या का कोई स्थायी समाधान नहीं किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र के किसान परेशान हैं।
- गजेसिंह, काश्तकार, वमल

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned