खाली पेट गुजरती है रातें, फिर भी सरकारी सुविधाओं वंचित यह परिवार

खाली पेट गुजरती है रातें, फिर भी सरकारी सुविधाओं वंचित यह परिवार
This family deprived of government facilities in Hadecha Sanchore

Dharmendra Ramawat | Updated: 14 Sep 2018, 11:03:16 AM (IST) Jalore, Rajasthan, India

भीमगुड़ा ग्राम पंचायत के कलजी बेरी का मामला

हाड़ेचा. चितलवाना पंचायत समिति की भीमगुड़ा ग्राम पंचायत के कलजी की बेरी निवासी एक परिवार गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने के बावजूद सरकारी सुविधाओं से वंचित है। हालात यह है कि परिवार के मुखिया को दो जून की रोटी के जुगाड़ के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। इसके बावजूद इस परिवार को सरकारी सुविधाओं से वंचित रखा गया है। जानकारी के मुताबिक कजली की बेरी निवासी भाखराराम पुत्र गुलाबाराम मेघवाल के पास रहने के लिए आशियाना तक नहीं है। पत्नी मानसिक बीमारी से ग्रस्त है, जबकि तीन बेटे भी मानसिक रूप से कमजोर हैं। परिवार में अकेला गुलाबाराम सभी सदस्यों का लालन पोषण करने के लिए रोजगार के जुगाड़ में इधर-उधर भटकता रहता है। परिवार के लोगों के पास खाने बनाने के बरतन सहित चारपाई भी गिनती की है। तीन बच्चों को उन पर सुलाने के बाद अन्य सदस्यों को जमीन पर रात गुजारनी पड़ती है। हालांकि पास की ढाणियों में रहने वाले लोग उनकी थोड़ी बहुत सहायता कर देते हैं, लेकिन कई बार स्थिति ऐसी हो जाती है कि पेट भरने को भोजन तक नहीं मिलता। भाखराराम को काम के साथ मानसिक रूप से कमजोर तीन बेटों और पत्नी की देखरेख भी करनी पड़ती है।
आशियाना ना घरेलू सामान फिर भी एपीएल
भाखराराम के परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत ही कमजोर है। खेती-बाड़ी भी नहीं होने से दूसरों के खेतों में मजदूरी कर जीवनापन करने को मजबूर है। इसके बावजूद इस परिवार का बीपीएल कार्ड नहीं बन पा रहा है।जिससे उन्हें सरकारी सहायता भी नहीं मिल रही है। भाखराराम ने बीपीएल में शामिल करने के लिए ग्राम पंचायत में कई बार गुहार लगाई, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। प्रधानमंत्री आवास में इस परिवार का नाम जरूर है, लेकिन लिस्ट में सबसे पीछे नाम होने से उसे इस योजना का अब तक कोई फायदा नहीं मिल पाया है। इसके अलावा उसे खाद्य सुरक्षा योजना का भी कोई फायदा नहीं मिल रहा है।
इनका कहना...
वाकई में यह परिवार काफी गरीब है। इसके बावजूद इनका बीपीएल कार्ड नहीं बनाया जा रहा है। जिससे यह परिवार सरकारी सुविधाओं से वंचित है। परिवार के लोगों के लिए कई बार सहायता भी करवाई, लेकिन इन्हें बीपीएल श्रेणी में शामिल किया जाता है तो सरकारी योजनाओं का फायदा मिल सकेगा।
- पूनमाराम कड़वासरा, ग्रामीण
परिवार गरीब रेखा से नीचे जीवनापन करने को मजबूर है, लेकिन भाखराराम का पूर्व में एपीएल कार्ड बना हुआ है। अपील करवाकर बीपीएल के लिए आवेदन करवाया जाएगा। हालांकि प्रधानमंत्री आवास में इस परिवार का नाम है। सूची में सबसे बाद में नाम होने से अब तक इस योजना का लाभ नहीं मिला है।
- मेघराज, ग्रााम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत, भीमगुड़ा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned