यह सरकारी स्कूल जान ले सकता है


- नजरअंदाजी के कारण बन रहे विकट हालात

By: khushal bhati

Published: 27 Nov 2019, 09:53 AM IST

रामसीन. कस्बे के विजयनगर गोलुआ की राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय इन दिनों बदहाली पर आंसू बहा रहा है। इस खस्ताहाल भवन से हादसे की आशंका है, लेकिन विभाग मामले में गंभीर नहीं है। कक्षा-कक्षों में प्लास्टर गिर जाने के बाद यहां जर्जर हालात में लोहे के सरीये दिखाई दे रहे है। क्षतिग्रस्त भवन के चलते एक कक्ष में दो कक्षाएं संचालित है। अभिभावकों को कहना है कि बच्चों को स्कूल भेजने में डर लगता है। विजयनगर के राजकीय स्कूल में अधिकतर किसान वर्ग के बच्चे पढते है। वहीं अभिभावकों ने बताया की कई बार जनससमयाओं को जन सुनवाई में भी मांग की थी , उसके उपरांत भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
इनका कहना
स्कूल के कमरों की छत व दीवार जर्जर होने से कमरे में बच्चों को बिठाना मुश्किल हो रहा है। स्कूल में कई बार अधिकारियों को अवगत भी करवा चुके है।
- हकाराम देवासी, अध्यक्ष, एसएमसी, रामसीन
स्कूलों की छत वह दीवार जर्जर होने से बारिश के मौसम में पानी टपकता है। जिससे बच्चों को कमरों में पढ़ाई करवाने में डर सता रहा है। जिससे बच्चों को कमरों की कमी की वजह से बरामदें में बिठाकर पढ़ाई करवा रहे हैं।
- सुरताराम, प्रधानाध्यापक, विजयनगर गोलुआ
विजयनगर गोलुआ स्कूल के भवन जर्जर हालत में है। ग्राम पंचायत की बैठक में प्रस्ताव ले लिया है और उसका प्रस्ताव भेज दिया गया है।
जोगेश कुमार मीणा, सरपंच, रामसीन

khushal bhati Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned