इस बार खनिज विभाग की टीम के हत्थे चढ़े बजरी से भरे डंपर

Khushal Singh Bhati

Publish: Jun, 05 2019 12:08:12 PM (IST)

Jalore, Jalore, Rajasthan, India

जालोर. आखिरकार खनिज विभाग की टीम ने बागोड़ा क्षेत्र के नरसाणा में देर रात कार्रवाई करते हुए बजरी से भरे 6 डंपर पकड़ ही लिए। इससे पूर्व दासपंा नदी प्रवाह क्षेत्र में से बजरी खनन माफिया द्वारा यहां से लगातार रात को 30 से 50 ट्रक बजरी का अवैध तरीके से परिवहन हो रहा था। इसमें पुलिस की भूमिका भी संदेह के घेरे में थी। पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं होने से बजरी का परिवहन नरसाणा चौकी के सामने से ही हो रहा था। इस बारे में पत्रिका ने समाचार प्रकाशित किए और ध्यानाकर्षण करवाया। आखिरकार देर रात को खनिज विभाग की टीम ने इसी क्षेत्र में कार्रवाई करते हुए आखिरकार बजरी से भरे 6 डंपर को पकड़ लिया है। अब इनसे पेनल्टी वसूल की जाएगी। खास बात यह है कि डंपर जालोर से लगते सीमावर्ती बाड़मेर जिले के निवासियों के ही है। विभागीय जानकारी के अनुसार ये छह डंपर क्रमश: बाड़मेर के धोरीमन्ना निासी गोरधनराम विश्नोई, गुडा मालानी निवासी भागीरथ राम विश्नोई, कोजा निवासी पुरखाराम विश्नोई, तेजा की बेरी निवासी गनी खां और पाली निवासी जबराराम मेघवाल के हैं।
बाड़मेर से जुड़े हैं तार
मामला खास है क्यों पकड़े गए डंपर में से 4 के मालिक बाड़मेर जिले के है। सीधे तौर पर यहां से बजरी का परिवहन बाड़मेर जिले के बड़े प्रोजेक्ट में हो रहा था। इस बारे में पत्रिका ने समाचार भी प्रकाशित किए थे। अब विभाग ने इस क्षेत्र से 6 डंपर पकड़ लिए है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। गौरतलब है दासपंा में नदी बहाव क्षेत्र में भारी मात्रा में बजरी का अवैध खनन होता है। यहां से रातों रात बजरी को डंपर में जेसीबी की सहायता से भरकर विभिन्न स्थानों तक भेजा जाता है। जिसके लिए मुख्य रूप से नरसाणा गांव का मुख्य रूट है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned