समृद्ध होगा रीको, 1.49 करोड़ की योजना से रीको में उद्योगों तक पहुंचेगा मीठा पानी

रीको क्षेत्र में 1.49 करोड़ की योजना से मीठे पानी की आपूर्ति होगी

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 16 Dec 2020, 10:05 AM IST

तुलसाराम माली. भीनमाल. सुविधाओं के अभाव में बदहाल बना यहां को रीको क्षेत्र अब समृद्ध हो सकेगा। यहां के उद्यमियों को शीघ्र खारे पानी की समस्या से निजात मिलेगी। पूरे रीको क्षेत्र में जलदाय विभाग की ओर से मीठे पानी की आपूर्ति होगी। ऐसे में रीको क्षेत्र के विकास को गति मिलेगी। साथ ही यहां श्रमिकों के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। रीको के अधिकारियों का कहना है कि पूरे रीको क्षेत्र में मीठे पानी की आपूर्ति के लिए योजना बनाकर सरकार को भेजी थी, जिसकी सरकार से स्वीकृति भी मिल चुकी है। रीको में 1.49 करोड़ की योजना से मीठे पानी की आपूर्ति होगी। पूरे रीको क्षेत्र में नई पाइप लाइन बिछेगी। ऐसे में रीको को भरपूर मीठा पानी मिलेगा। दरअसल, रीको क्षेत्र में सालों से यहां के ट्यूबवेल से पानी की आपूर्ति होती है। यहां बने ट्यूबवैल का पानी खारा होने की वजह से उद्यमी बाहर से मीठे पानी के टैंकर मंगवाने को मजबूर थे। ऐसे में यहां निर्मित होने वाले माल की लागत बढ़ जाती थी। खारे पानी की वजह से यहां उद्योग नहीं पनप पाते थे। पिछले 15 साल में आइस व आइस्क्रीम बनाने वाली यहां की कई फैक्ट्रियां भी स्थापित हुई, लेकिन खारे पानी की वजह से सालभर बाद बंद हो गई। रीको में हर माह करीब 500 पानी के टैंकर मंगवाते हैं। रीको के उद्यमियों का कहना है कि मीठे पानी की आपूर्ति होने पर रीको के विकास को गति मिलेगी।
सालभर में मिल सकेगा मीठा पानी
रीको के अधिकारियों का कहना है कि रीको में मीठेे पानी की सप्लाई के लिए योजना स्वीकृत हो गई। मीठे पानी की आपूर्ति के लिए तीन भाग में काम होगा। पाइप लाइन से पूरे रीको क्षेत्र में पानी आपूर्ति होगी। इस पर करीब एक करोड़ 49 लाख की राशि व्यय होगी। इससे रीको को रोजाना 400 केएलडी पानी की आपूर्ति होगी। यहां के रीको क्षेत्र में 172 भूखण्ड हैं। इनमें से अधिकांश इकाइयां बंद पड़ी हैं। राजस्थान पत्रिका ने भी खारे पानी की समस्या को लेकर कई बार सिलसिले वार खबरें प्रकाशित की थीं।
खारे पानी की वजह से कटवा दिए थे कनेक्शन
यहां के रीको क्षेत्र में खारे पानी की समस्या के चलते मशीने जंग लग जाती थी। खारे पानी की वजह से एक-दो साल में मशीनें बेकार हो जाती थीं। ऐसे तीन साल पूर्व यहां के उद्यमियों ने एक-एक करके सभी कनेक्शन कटवा दिए थे। उसके बाद उद्यमी बाहर से टैंकरों के माध्यम से मीठे पानी मंगवाते थे। रीको में रोजाना मीठे पानी के दर्जनों टैंकरों की खपत होती थी।
रीको का विकास होगा
रीको में सालों से खारे पानी की समस्या है। अब रीको में मीठे पानी के लिए योजना स्वीकृत हुई है तो उद्योगों के लिए अच्छा है। रीको क्षेत्र का विकास होगा। यहां उद्योग स्थापित होंगे। यहां श्रमिकों के रोजगार के नए अवसर मिलेंगे।
- जोगाराम चौधरी, अध्यक्ष, रीको व्यापार संघ-भीनमाल
पानी की समस्या से छुटकारा मिलेगा
रीको में मीठे पानी की आपूर्ति होने से यहां के उद्यमियों को पानी की समस्या से छुटकारा मिलेगा। मीठे पानी के टैंकर मंगवाने से उद्योगों में निर्मित होने वाले माल की लागत मूल्य बढ़ जाती है। रीको में हर माह 500 टैंकर पानी मंगवाते हैं।
- नितेश माहेश्वरी, उद्यमी
1.49 करोड़ की योजना स्वीकृत
रीको में खारे पानी की समस्या से निजात दिलवाने के लिए योजना स्वीकृत हुई है। इसके तहत रीको में रोजाना 400 केएलडी पानी की आपूर्ति होगी। योजना के तहत दो साल में पूरे रीको में मीठे पानी की आपूर्ति होगी। अगले साल में इसको लेकर कार्य भी शुरू होने की उम्मीद है।
- महेश पटेल, एसीस्टमेंट रीजनल मैनेजर, रीको-जालोर

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned