श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना में जांच के नाम पर इस तरह हो रही लीपापोती

रानीवाड़ा उपखंड क्षेत्र के अंतर्गत रानीवाड़ा और रानीवाड़ा खुर्द, जालेरा, दहीपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत हुए विभिन्न विकास कार्यों में लीपापोती की गई है। इस संबंध में प्रशासनिक स्तर पर शिकायत दर्ज हुई तो अधिकारियों ने गहनता से पड़ताल करने की बजाय मनमर्जी से जांच कर इस पर पर्दा डाल दिया।

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Updated: 05 Mar 2021, 09:35 AM IST

रानीवाड़ा. उपखंड क्षेत्र के अंतर्गत रानीवाड़ा और रानीवाड़ा खुर्द, जालेरा, दहीपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत हुए विभिन्न विकास कार्यों में लीपापोती की गई है। इस संबंध में प्रशासनिक स्तर पर शिकायत दर्ज हुई तो अधिकारियों ने गहनता से पड़ताल करने की बजाय मनमर्जी से जांच कर इस पर पर्दा डाल दिया। आरोप है कि योजना में जो भी कार्य हुए हंै उनमें गुणवत्ता का अभाव है। इसको लेकर ग्रामीणों ने शिकायत के साथ जांच की मांग की थी। अब प्रशासनिक स्तर पर जांच तो कर दी गई है, लेकिन उस पर पर्दा डाला जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि जांच में अनियमितताएं बरती गई है।
यह होना था जांच में
योजना में गड़बड़ी की शिकायत के बाद प्रशासनिक स्तर से एक टीम का गठन किया गया था। इस टीम को जांच करने के दौरान स्थानीय लोगों के बयान भी दर्ज करने थे, लेकिन अधिकारियों ने इस जांच में मनमर्जी की। ग्रामीण गोविंद कुमार का आरोप है कि टीम ने जांच को अपने स्तर पर ही पूरा कर लिया और स्थानीय लोगों के बयान तक दर्ज नहीं की। ग्रामीणों का आरोप है कि सीधे तौर पर एक पक्षीय जांच कर आरोपियों को राहत देने का कार्य टीम ने किया है। ग्रामीण उत्तमसिंह का कहना है कि जांच निष्पक्ष तरह से की जाए और उसमें स्थानीय लोगों के पक्ष और उनके बयान भी दर्ज किए जाएं। ताकि कार्य की गुणवत्ता के बारे में पुख्ता जानकारी मिल सके।
यह सब कुछ चल रहा काम
योजना के तहत विभिन्न कार्य हुए हैं और कुछ कार्य अभी चल रहे हैं। इस योजना के तहत स्कूल भवन का नवीनीकरण, किसान सीड्स हाउस, सीसी रोड निर्माण कार्य अस्पताल की मरम्मत का कार्य और इंटरलॉकिंग के कार्य समेत कई विकास कार्य किए गए हैं तो कुछ प्रगति पर हैं।
पत्रिका ने प्रकाशित किया था समाचार
श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत ठेकेदार की ओर से मनमर्जी से निर्माण कार्य को लेकर ग्रामीणों की शिकायत पर राजस्थान पत्रिका ने समाचार प्रकाशित किए थे। राजस्थान पत्रिका में ‘मूल मकसद से भटकी श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। जिसके बाद प्रशासन हरकत में आया।
इधर, हाट बाजार योजना में मनमर्जी हावी
उपखंड क्षेत्र के अंतर्गत ही रानीवाड़ा खुर्द में इसी योजना के तहत हाट बाजार की स्थापना का प्रोजेक्ट भी स्वीकृत हैए लेकिन यह मामला अभी ठंडे बस्ते हैं। जबकि इस कार्य को कागजों में 50 प्रतिशत पूरा बता दिया गया है। हकीकत में यह कार्य विवादों मेंं घिरा हुआ है। हाट बाजार के लिए सरपंच शोभना सुथार ने जिस स्थान को प्रस्तावित किया था, उस पर फिलहाल विवादों के चलते काम ठप है। सीधे तौर पर यह मामला अटका हुआ है। सरपंच शोभना सुथार का कहना है कि हाट बाजार के लिए उन्होंने स्थान प्रस्तावित किया था, लेकिन राजनीतिक हस्तक्षेप के चलते मामला अटका हुआ है। प्रशासनिक अधिकारी भी इस मामले पर कार्य नहीं कर रहे हैं। जबकि यह महत्वपूर्ण कार्य है।
इनका कहना...
श्यामा प्रसाद योजना के तहत हुए कार्यों की जांच के लिए टीम गठित की गई थी। टीम ने जांच कर ली है। जांच रिपोर्ट के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
- संजयकुमार वासु, सीईओ, जिला परिषद, जालोर

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned