Amarnath Yatra 2019: खराब मौसम ने लगाया ब्रेक, अब बस बाबा से आस

Amarnath Yatra 2019: खराब मौसम ने लगाया ब्रेक, अब बस बाबा से आस

Nitin Bhal | Publish: Jul, 26 2019 05:20:41 PM (IST) Jammu, Jammu, Jammu and Kashmir, India

Amarnath Yatra 2019: खराब मौसम के कारण जम्मू-श्रीनगर ( Jammu Kashmir ) राजमार्ग पर शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा ( Amarnath Yatra ) स्थगित कर दी गई। ऐसे में श्रद्धालुओं को बस बाबा बर्फानी से आस है। यात्रियों का कहना है कि बाबा बर्फानी के

जम्मू. खराब मौसम के कारण जम्मू-श्रीनगर ( Jammu Kashmir ) राजमार्ग पर शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा ( Amarnath yatra ) स्थगित कर दी गई। ऐसे में श्रद्धालुओं को बस बाबा बर्फानी से आस है। यात्रियों का कहना है कि बाबा बर्फानी के आशीर्वाद से उन्हें पवित्र शिवलिंग के दर्शन करने का मौका जरूर मिलेगा। अधिकारियों ने बताया कि लगभग 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर खराब मौसम के कारण शुक्रवार को घाटी की तरफ किसी भी यात्री वाहन को जाने की अनुमति नहीं है। मौसम विभाग ने जम्मू क्षेत्र में 29 जुलाई तक मध्यम से तेज बारिश की संभावना जताई है। अधिकारियों ने कहा कि किसी भी यात्री वाहन को आगे बढऩे की अनुमति नहीं दी जाएगी। बता दें कि एक जुलाई को यात्रा शुरू होने के बाद से अब तक 3,08,839 यात्री पवित्र शिवलिंग के दर्शन कर चुके हैं। कश्मीर में समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊपर स्थित अमरनाथ गुफा में बर्फ की विशाल संरचना बनती है। मान्यता है कि यह भगवान शिव की पौराणिक शक्तियों की प्रतीक है। इस साल एक जुलाई को शुरू हुई 45 दिवसीय अमरनाथ यात्रा का समापन 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा के साथ होगा।

हर साल उमड़ते हैं लाखों श्रद्धालु

Amarnath Yatra interrupted due to bad weather

अमरनाथ की पवित्र यात्रा पर 2009 में 60 दिन की अवधि में 3.81 लाख श्रद्धालु आए। 2010 में 55 दिन की अवधि में 4.55 लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा में हिस्सा लिया। वहीं 2011 में 45 दिन की यात्रा के दौरान रेकॉर्ड 6.36 श्रद्धालु आए। वर्ष 2012 में 39 दिन की यात्राा के दौरान 6.20 लाख श्रद्धालु आए। 2013 में 55 दिन की यात्रा के दौरान 3.53 लाख यात्री आए। 2014 में 44 दिन की यात्रा के दौरान 3.72 लाख श्रद्धालु आए। 2015 में 59 दिन की यात्रा के दौरान 3.52 लाख तीर्थयात्रियों ने यात्रा में हिस्सा लिया। 2016 में 48 दिन चली यात्रा के दौरान 2.20 लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा में हिस्सा लिया। 2017 में 40 दिन की यात्रा के दौरान 2.60 लाख श्रद्धालु आए। वहीं, 2018 में 60 दिन की यात्रा के दौरान 2.85 लाख श्रद्धालु आए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned