लेह से श्रीनगर पहुंचे ही थे कि उन्हें अलग कर दिया गया... पढि़ए पूरा मामला...

श्रीनगर में उन्हीं को प्रवेश दिया जाएगा, जो यात्रा दिनांक से पूर्व दो सप्ताह तक आइसोलेशन की प्रक्रिया पूरी कर चुके होंगे।

By: Devkumar Singodiya

Published: 19 Mar 2020, 07:23 PM IST

श्रीनगर. केन्द्रशासित प्रदेश लद्दाख से श्रीनगर पहुंचने पर करीब 78 लोगों मेें संदिग्ध कोरोना वायरस (कोविड-19) का संक्रमण पाए जाने पर अलग वार्ड में रखा गया। प्रशासन ने लद्दाख से कश्मीर पहुंचने वाले सभी यात्रियों को दो सप्ताह के लिए अलग रहना अनिवार्य कर दिया है, जहां एक जवान सहित आठ लोगों में अब तक इस जानलेवा बीमारी के परीक्षण पॉजीटिव पाए गए हैं।

उपायुक्त शहीद इकबाल चौधरी ने कहा, ' लेह से श्रीनगर पहुंचने वाले 78 यात्रियों को शहर के बाहरी इलाके में अलग से रखा गया है। उन पर निगरानी रखने के लिए चिकित्सा और संचालन टीमों को तैनात किया गया है।' उन्होंने ट््वीट कर इन लोगों के परिवार के सदस्यों से अनुरोध किया कि वे अपने निर्धारित स्थानों को दौरा न करें और उन्हें मिलने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा, 'परिवार के सदस्य यात्रा और भीड़भाड़ वाले इलाकों ने जाएं। जहां उनको जाने की अनमति नहीं दी गई है।' प्रशासन ने उन 81 लोगों को अलग रखा जो लेह से एयर इंडिया के विमान से श्रीनगर लौटे थे।

श्रीनगर से लेह-करगिल यात्रा पर रोक

लेह और करगिल से श्रीनगर आने वाले यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिलाधिकारी ने आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत जारी आदेश में कहा है कि केवल वही यात्री श्रीनगर में प्रवेश कर सकते हैं, जो यात्रा की तारीख से पहले दो सप्ताह तक आइसोलेशन की प्रक्रिया पूरी कर चुके हों और चिकित्सा प्राधिकरण से उन्हें प्रमाण पत्र और इसकी मंजूरी मिली हो।

उन्होंने कहा कि लद्दाख के यात्री जो अपने क्षेत्र में इस प्रक्रिया से नहीं गुजरे होंगे उन्हें आगे जाने से पहले श्रीनगर में अलग से रखने की प्रक्रिया से गुजरना होगा।


जम्मू कश्मीर की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

Show More
Devkumar Singodiya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned