मदद को आगे आएं कश्मीरी सांसद, करोड़ों की सहायता राशि देने की घोषणा

घाटी में करीब एक हजार लोग ऐसे बताए जा रहे हैं तो बीते दो माह के दौरान विदेश यात्रा से लौटे (Farooq Abdullah And Jitendra Singh Announced 1 Crore For Relief Fund) हैं, यहां कोरोनो वायरस के सभी संदिग्ध मरीज...

By: Prateek

Published: 21 Mar 2020, 07:28 PM IST

(जम्मू,योगेश): केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को तीन और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि की गई। इसी के साथ लद्दाख में अब तक कुल 13 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। लद्दाख के आयुक्त सचिव रिगजिन सैंफल ने पुष्टि करते हुए कहा कि इन सभी को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवाया गया है।


लद्दाख के 13 कोरोना पॉजिटिव में एक सेना का जवान, एक स्वास्थ्य कर्मी और 11 अन्य लोग हैं। इसके साथ ही लद्दाख में सभी शैक्षिक संस्थानों, होटलों, रेस्तरां को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। वहीं कश्मीर में दो महिला डॉक्टरों में भी कोरोना वायरस के लक्ष्ण पाए जाने के बाद उन्हें कड़ी निगरानी के बीच आइसोलेशन में रखा गया है। यह दोनों महिला डॉक्टर बीते कुछ दिनों से कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार में जुटी हुई थी। ये दोनों डॉक्टर शेर-ए-कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान सौरा मे कार्यरत हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी पुष्टि भी की है। कश्मीर में अभी तक एक हजार से अधिक लोगों को निगरानी में रखा गया है। यही नहीं विदेशों से श्रीनगर पहुंच रहे लोगों, छात्रों को सीधा क्वारंटाइन केंद्र भेजा जा रहा है।


सांसदों ने किया सहायता राशि देने का ऐलान

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष डाॅ. फारुक अब्दुल्ला और डाॅ जितेंद्र सिंह ने शनिवार को एक-एक करोड़ रुपए की राशि देने का एलान किया है। उन्होंने यह राशि अपने मेंबर पार्लियामेंट लोकल डेवलपमेंट फंड (एमपीलैड) से दी है। डाॅ फारूक अब्दुल्ला श्रीनगर संसदीय क्षेत्र के सांसद जबकि डाॅ जितेंद्र सिंह उधमपुर-कठुआ-डोडा संसदीय सीट से सांसद हैं। डॉ. फारूक की ओर से घोषित राशि में से 50 लाख रुपए की राशि शेरे कश्मीर आयुर्विज्ञान संस्थान सौरा को दी जाएगी और 25-25 लाख रुपए की राशि बडगाम और गांदरबल के अस्पतालों के लिए है।


गौरतलब है कि कश्मीर में एक महिला कोरोना संक्रमित पाई गई थी। घाटी में करीब एक हजार लोग ऐसे बताए जा रहे हैं तो बीते दो माह के दौरान विदेश यात्रा से लौटे हैं। यहां कोरोनो वायरस के सभी संदिग्ध मरीज विदेश यात्रा से लौटने वाले नागरिक ही हैं। इसी तरह जम्मू संभाग में भी अभी तक तीन लोग कोरोना संक्रमण से पीड़ित पाए गए हैं। यही नहीं जम्मू-कश्मीर में साढ़े तीन हजार से अधिक लोग निगरानी में रखे गए हैं।

Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned