Omar: न करें चुनाव बहिष्कार, नहीं तो जीत जाएगी बीजेपी

Omar: न करें चुनाव बहिष्कार, नहीं तो जीत जाएगी बीजेपी

Nitin Bhal | Publish: Jul, 26 2019 05:54:28 PM (IST) Jammu, Jammu, Jammu and Kashmir, India

Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में लोगों द्वारा चुनाव बहिष्कार के फैसले का नेशनल कांफ्रेंस ( National Conference ) के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ( Omar Abdullah ) ने विरोध किया है। वहीं, भाजपा ( BJP ) के कार्यकारी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा...

जम्मू. जम्मू-कश्मीर ( jammu kashmir ) में लोगों द्वारा चुनाव बहिष्कार के फैसले का नेशनल कांफ्रेंस ( National Conference ) के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ( Omar Abdullah ) ने विरोध किया है। वहीं, भाजपा ( BJP ) के कार्यकारी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ( Jagat Prakash Nadda ) ने भी उमर के बयान पर पलटवार किया है। उमर अब्दुल्ला ने कहा कि है चुनाव बहिष्कार करना खतरनाक हो सकता है। इस तरह के फैसले से वही होगा जैसा की लोकसभा चुनाव में हुआ। उनका इशारा लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली सीटों की ओर था। उमर अब्दुल्ला ने कहा कि अब विधानसभा चुनाव में बहिष्कार नहीं किया जाना चाहिए। उमर अब्दुल्ला ने कहा कि अगर वे लोग विधानसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करते हैं तो वही होगा जो लोकसभा चुनाव में हुआ। त्राल से एक बीजेपी विधायक को जीत मिली जहां के बुरहान वानी और जाकिर मूसा रहने वाला था। अब उनकी (बीजेपी) नजरें कुछ और दूसरी विधासभाओं पर है।

सुप्रीम कोर्ट पर विश्वास रखे केन्द्र

गुरुवार को उमर अब्दुल्ला ने कहा कि केंद्र को सुप्रीम कोर्ट पर विश्वास रखना चाहिए और संविधान के अनुच्छेद 35- ए तथा 370 को खत्म करने की धमकी देकर जम्मू-कश्मीर के लोगों को डराने का प्रयास नहीं करना चाहिए। उमर अब्दुल्ला ईदगाह में एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 35- ए और 370 की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में लंबित हैं ऐसे में केंद्र सरकार को कोई फैसला लेने से पहले सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। उन्होंने सवाल उठाया कि क्या केंद्र को सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भरोसा नहीं है।

नड्डा ने किया पलटवार

Former CM Omar said don't boycott polls in kashmir

उधर, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने उमर के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वे लोग देश से ज्यादा अपनी राजनीति को लेकर चिंतित हैं और यह समय-समय पर बदलता रहता है। उन्होंने आगे कहा कि इसी पार्टी (एनसी) ने पहले भी कहा था कि वह पंचायत चुनावों का बहिष्कार करेगी लेकिन बाद में उसने इसमें हिस्सा लिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned