आतंक का दामन थामने वाले एमबीए युवक हारुन अब्बास वानी के घर बजने वाली है शहनाई!

आतंक का दामन थामने वाले एमबीए युवक हारुन अब्बास वानी के घर बजने वाली है शहनाई!

Prateek Saini | Publish: Sep, 04 2018 05:24:23 PM (IST) Jammu

कुछ ही दिन के बाद हारुन के भाई यावर अब्बास की शादी है...

(पत्रिका ब्यूरो,जम्मू): जम्मू के डोडा जिले का घट इलाका एक बार फिर से चर्चा में है। 90 के दशक में इसी क्षेत्र से डोडा में आतंकवाद की शुरूआत हुई थी। अब एक सितंबर को इसी घट इलाके के फुरकान आबाद मोहल्ला के हारुन अब्बास वानी (21) पुत्र गुलाम अब्बास वानी का फोटो सोशल मीडिया पर एके 47 बंदूक के साथ वायरल होने से परिवार के अलावा सुरक्षा एजेंसियां सकते में हैं। हारुन अब्बास वानी के घर के बाहर सुरक्षा एजेंसियों का कड़ा पहरा लगा दिया गया है।

 

हारून करता था यह काम

परिजनो के अनुसार हारुन मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के तौर पर जम्मू में काम करता था। इसी सिलसिले में दिल्ली और कश्मीर जाता रहता था। कुछ दिन बाद उसके भाई की शादी भी है। अब परिवार के सदस्य चिंतित हैं।

 

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ फोटो

सोशल मीडिया पर एक-47 के साथ फोटो वायरल होने और हारुन के आतंकी संगठन में शामिल होने की खबर के बाद से मां शमीमा बेगम का रो रोकर बुरा हाल है। वह बेटे से घर लौटने की गुहार लगा रही है। उसके पिता भी पथराई आंखों से बस बेटे की तस्वीर को निहार रहा है।

 

यह रास्ता ठीक नहीं है

हारुन की मासी रोते-रोते एक ही बात कह रही थी कि मैं उन लोगों से अपील करती हूं, जिन्होंने उसे बहकाया है कि हमारा बेटा हमें लौटा दें। हम अपने बेटे से भी कहना चाहते हैं कि वह घर आ जाए यह ठीक रास्ता नहीं है, क्योंकि जो भी इस रस्ते पर गया उसका पूरा परिवार उजड़ गया। कुछ ही दिन के बाद हारुन के भाई यावर अब्बास की शादी है। हारुन ने 31 अगस्त को आखिरी बार घर पर फोन किया था। उसने कहा था कि मैंने शादी के लिए सामान भेज दिया है। इसके बाद से उसका फोन भी बंद हो गया है। वह चार भाई है।

 

यह गम हमसे सहन नहीं हो रहा है

चाचा फारूक अहमद वानी का कहना था कि हारुन ने अच्छे अंक हासिल कर एमबीए किया था। हमें जरा भी आभास नहीं हुआ कि वह किसी के बहकावे में आ रहा है। इसी सप्ताह इसके भाई की शादी है। हम उन लोगों से अपील करते हैं जिन्होंने इसे बहकाया है। वह हारुन को हमारे पास वापस भेज दें। हमारे घर के हालत पहले ही ठीक नहीं हैं। ऐसे में यह गम हमसे सहन नहीं हो रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned