बर्फबारी के बीच जन आंदोलन की आवाज बना पत्रिका, उड़ी प्रशासन की नींद, बहाल हुई संचार सेवा

पत्रिका की ख़बरों के माध्यम से लोगों की समस्या उजागर होने के (Zanskar Kargil) बाद (Jammu Kashmir News) प्रशासन (Laddhak News) की (Kargil News) नींद उड़ी...

(जम्मू): भारी बर्फबारी के दौर में मुश्किलों का सामना करने वाले करगिल जिले के ज़ांस्कर कस्बे की समस्याओं का समाधान करने के लिए प्रशासन ने कदम उठाए है। खास बात यह है कि पत्रिका की ख़बरों के माध्यम से लोगों की समस्या उजागर होने के बाद प्रशासन की नींद उड़ी। पत्रिका डॉट कॉम के साथ-साथ राजस्थान पत्रिका के विभिन्न संस्करणों में 29 जनवरी को जांस्कर के लोगों द्वारा माइनस 24 डिग्री तापमान और बर्फिले पहाड़ों के बीच जो प्रर्शन किया गया उसे मुख्य रूप से जगह दी गई। अंतत: प्रशासन को जनता की सुननी पड़ी।

 

यह भी पढ़ें: निर्भया के दोषियों की फांसी के ऐलान से इस कदर घबराया, प्लान बनाकर जेल से फरार हुआ रेप का आरोपी

रविवार को लद्दाख प्रशासन ने ज़ांस्कर में संचार शुरू करने के लिए सीधे उपग्रह से चलने वाले के टेलीफोन को भारतीय वायु सेना के एक हेलीकाप्टर के जरिए ज़ांस्कर के प्रशासनिक मुख्यालय पदुम भेजा। लद्दाख से भाजपा संसद जम्यांग तर्सिंग नामग्याल ने इस बात की जानकारी दी।


यह भी पढ़ें: BJP ने उमर अब्दुल्ला को दिया 'रेजर' का उपहार, सचिन पायलट ने की ऐसी खिंचाई होना पड़ा शर्मिंदा

बता दें कि सर्दी के समय केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के कई इलाके देश के अन्य भागों से कट जाते है। इनमें करगिल जिला भी शामिल है। जिले के जांस्कर में लोगों को बर्फ के बीच में ही पैदल लंबा सफर तय करना पड़ता है। संचार सेवाएं भी काम नहीं करती है। आक्रोशित जनता ने बीते दिनों माइनस 24 डिग्री तापमान में और बर्फ के बीच प्रदर्शन किया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन पर टेलीफोन सुविधाओं, सड़क संपर्क सहित बुनियादी चीजे प्रदान करने में विफलता का आरोप लगाया।

जम्मू-कश्मीर की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Coronavirus: भारत के इन राज्यों के दर्जनों छात्र चीन में फंसे, कईं परेशानियां आ रहीं सामने, PM से वापस लाने की गुहार

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned