मात्र दो माह में सातवें आसमान पर पहुंचे दाल के भाव

मात्र दो माह में सातवें आसमान पर पहुंचे दाल के भाव
Tuar dal rate hikes

Shribabu Gupta | Publish: Oct, 18 2015 07:14:00 PM (IST) Jamshedpur, Jharkhand, India

सातवें आसमान के भाव छू रही दालें अब गरीबों की थाली से छिटकने लगी है। हर रोज थाली में परोसी जाने वाली दाल भी अब साप्ताहिक हो चली है...

जमशेदपुर। सातवें आसमान के भाव छू रही दालें अब गरीबों की थाली से छिटकने लगी है। हर रोज थाली में परोसी जाने वाली दाल भी अब साप्ताहिक हो चली है। सप्ताह में एक से अधिक बार बनाना बजट पर भारी पड़ रहा है। दाल की उछलती कीमतों के चलते गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार सबसे अधिक प्रभावित हुआ है।

बीते दो माह में दाल की कीमतों में 50 रुपए का इजाफा हुआ है। पिछले 2 महीनों में प्रतिकिलो अरहर दाल के मूल्य में 50 रुपए का बढ़ोत्तरी हुई है। अगस्त माह में 135 रुपए प्रति किलो बिकने वाली दाल अब 185 रुपए में बिक रही है। वहीं अन्य दालों का भी ऐसा यही हाल है। अगर थोक विक्रेताओं की मानें, तो अरहर दाल की नई फसल आने में अभी करीब चार माह का समय और बाकी है। जिसके चलते दाल के भाव और बढ़ सकते हैं। जब तक नई फसल बाजार में नहीं आ जाती, तब तक अरहर दाल की कीमतों में भाव कम होने की कोई गुंजाइश नहीं है।


प्रोटीन का सुलभ साधन है दाल

आम आदमी के लिए दाल को प्रोटीन का सबसे सुलभ साधन माना जाता है। लेकिन महंगी कीमतों के चलते दालें अब लोगों से की पहुंच से दूर होती जा रही है। ऐसे में लोगों को प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा भी नहीं मिल सकेगी। इसका असर लोगों के स्वास्थ्य पर दिखने लगा है। दाल चावल विक्रेताओं के अनुसार, शहर में अरहर दाल की सबसे बड़ी खेप महाराष्ट्र व रायपुर से आती है। पिछले वर्षों के आंकड़ो के चलते इस बार दाल की उपज कम हुई है। साथ ही कम उपज के चलते दाल की कीमतों में बढ़ोत्तरी साधारण बात है।

वर्तमान दाल का दाम, थोक विक्रेता

उड़द - 160 -155
मूंग दाल - 125 -115
मसूर - 88 -81
चना दाल - 74 -68
अरहर - 185 -180
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned