झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हथियारों का जखीरा बरामद, तीन गिरफ्तार

झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, हथियारों का जखीरा बरामद, तीन गिरफ्तार
file photo

Prateek Saini | Updated: 22 Apr 2019, 04:17:54 PM (IST) Jamshedpur, Jamshedpur, Jharkhand, India

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो ने आज प्रेस वार्ता में बताया कि पुलिस अधीक्षक के द्वारा गुप्त सूचना मिली थी कि चुनाव में गड़बड़ी फैलाने के उद्देश्य से कुछ अपराधी हथियार बेचने के लिए रंका आने वाले हैं...

(गढ़वा,जमशेदपुर): झारखंड के गढ़वा जिले के रंका थाना क्षेत्र से पुलिस ने आज चुनाव के ठीक एक सप्ताह पूर्व मिनीगन फैक्टरी का उदभेदन करते हुए हथियारों के जखीरे के साथ तीन अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इनके पास से 6 देशी पिस्तौल, दो जिंदा गोली एवं आग्नेयास्त्र बनाने का उपकरण बरामद हुई है। गिरफ्तार अपराधियों का नाम महताब आलम अंसारी (20), मोजाहीद अंसारी (20) दोनों गढ़वा थाना के फरठिया और तीसरा जनेश्वर विश्वकर्मा मझिआंव थाना के रामपुर गाँव का रहने वाला है।


अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो ने आज प्रेस वार्ता में बताया कि पुलिस अधीक्षक के द्वारा गुप्त सूचना मिली थी कि चुनाव में गड़बड़ी फैलाने के उद्देश्य से कुछ अपराधी हथियार बेचने के लिए रंका आने वाले हैं। इसके लिए एक टीम गठित की गई। टीम में शामिल पुलिस पदाधिकारी दल-बल के साथ सब्जी मंडी पहुंचे। पुलिस ने जाल बिछाया और दो अपराधी महताब आलम अंसारी, मोजाहीद अंसारी को सब्जी मंडी से गिरफ्तार कर लिया। तलाशी के दौरान महताब आलम अंसारी के पास से दो देशी कट्टा, दो जिंदा गोली, एक मोबाइल, एवं मोजाहीद अंसारी के पास से एक देशी कट्टा, एक मोबाइल बरामद हुई। पूछताछ में दोनों अपराधियों ने बताया कि बेचने की योजना से वह मझिआंव थाना के रामपुर निवासी जनेश्वर विश्वकर्मा के यहाँ से यह हथियार लेकर रंका पहुँचें है। दोनों ने बताया कि जनेश्वर विश्वकर्मा अपने घर में हथियार बनाता और बेचता है। पुलिस उनकी निशान देही पर जनेश्वर विश्वकर्मा के घर रामपुर गाँव पहुँची, वहां जनेश्वर विश्वकर्मा के घर से तीन देशी कट्टा एवं भारी मात्रा में आग्नेयास्त्र बनाने का उपकरण मसलन भांथी पंखा, सड़सी, रेती, हेक्सा ब्लेड, हथौड़ा, छेनी, अर्धनिर्मित ट्रेगर गार्ड, लोहे का चादरा सहित अन्य सामग्री बरामद की गई। साथ ही जनेश्वर विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया।


एसडीपीओ ने बताया कि तीनों अपराधी पूर्व में गढ़वा, चिनिया, मझिआंव थाना में लूटपाट एवं आर्म्स ऐक्ट में जेल जा चुके हैं। एसडीपीओ ने बताया कि हथियारों की तस्करी के पीछे एक गिरोह है। जो हथियार बेचने का काम करते हैं। पहले भी हथियारों के साथ गिरफ्तारियां हो चुकी है। इस मौके पर पुलिस निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, रंका थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार, मझिआंव थाना प्रभारी विनय कुमार समेत अन्य पुलिस कर्मी शामिल थे।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned