देश की ऐसी जेल जहां कैदियों के साथ जेलकर्मियों को भी सताता रहता है डर

(Jharkhand News ) देश में एक ऐसी जेल है जहां कैदियों को दिन-रात (Fear in inmates and Jail staff ) सोते हुए सांपों को डर ( Fear of snakes in this jail ) सताता रहता है। यह डर सिर्फ कैदियों में ही बल्कि पहरा देने वाले जेलकर्मियों (Rare white snake ) में भी व्याप्त है। कारण है कि इस जेल का सांपों से (Found snkes in jail ) गहरा नाता है।

By: Yogendra Yogi

Updated: 03 Oct 2020, 05:08 PM IST

जमशेदपुर(झारखंड): (Jharkhand News ) देश में एक ऐसी जेल है जहां कैदियों को दिन-रात (Fear in inmates and Jail staff ) सोते हुए सांपों को डर ( Fear of snakes in this jail ) सताता रहता है। यह डर सिर्फ कैदियों में ही बल्कि पहरा देने वाले जेलकर्मियों (Rare white snake ) में भी व्याप्त है। कारण है कि इस जेल का सांपों से (Found snkes in jail ) गहरा नाता है। इस जेल में सांप अक्सर मंडराते रहते हैं। यह बात दीगर है कि अभी तक विषैले सांपों ने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया है। सांपों और जेल को यह संबंध है जमशेदपुर की घाघीडीह सेंट्रल जेल में। इस जेल में अक्सर सांप आ जाते हैं। अभी तक ज्यादातर मामलों में सांपों को स्नेक द्वारा पकड़वा कर जंगल में वापस छोड़ दिया जाता है।

दुर्लभ सफेद सांप
घाघीडीह सेंट्रल जेल में रात के 10 बजे सांप के निकलने पर अफरातफरी मच गई। जेल में दुर्लभ सफेद सांप निकला। जेल स्टॉफ ने सांप देखा और उसे डंडे से रोकने का प्रयास किया। लेकिन नाग फन उठा रहा था। इससे सभी घबराकर दूर हट गए। सांप को पकडऩे के लिए स्नेक कैचर को बुलाया गया। इस काम में माहिर मिथिलेश श्रीवास्तव उर्फ छोटू को बुलाया गया। छोटू ने सांप को काबू करके एक डिब्बे में बंद कर दिया। बाद में उसे जंगल में छोड़ दिया गया।

सफेद रंग एल्बिनों के कारण
इसके सफेद होने की वजह यह सांप एल्बिनों से ग्रसित है, जिससे इसकी त्चचा का रंग सफेद हो गया। यह सांप पूरे भारत में सबसे खतरनाक सांपों में ये चौथे नंबर पर आते हैं। इससे पहले लीयोसिस्टिक करैत यूपी ओडिशा और छत्तीसगढ़ में पाये जाते हैं।

नाग निकला
इससे पहले 8 मई 2020 को इसी जेल नाग निकला था। इससे हडकंप मच गया। जेल स्टॉफ ने सांप देखा और उसे डंडे से रोकने का प्रयास किया। लेकिन नाग फन उठा रहा था। इससे सभी घबराकर दूर हट गए। सांप को पकडऩे के लिए स्नेक कैचर मिथिलेश श्रीवास्तव उर्फ छोटू को बुलाया गया। छोटू ने सांप को काबू करके एक डिब्बे में बंद कर दिया। बाद में उसे जंगल में छोड़ दिया गया।

अजगर निकला था
इसी जेल में 13 सितंबर 2018 को भी परिसर में जेल अधीक्षक के आवास पर एक बड़ा अजगर निकल आया था। वन विभाग को सूचना देने पर चंदन पाठक नाम के युवक को डीएफओ ने भेजा और उसने अजगर को पकड़ा औऱ वन विभाग को सौंपा।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned