प्रशासन की बड़ी लापरवाही से इस पूरे क्षेत्र की एक बड़ी आबादी को नहीं मिल रहा पीने का पानी

भीषण गर्मी में बून्द बून्द पानी को तरस रहे नगरवासी

By: Shiv Singh

Published: 24 May 2018, 05:41 PM IST

जांजगीर-चांपा/जैजैपुर. भीषण गर्मी में जहां वाटर लेवल डाउन होने के चलते, हैंडपम्प की हलक सूख जातें है। जिससे लोगो को गर्मी के दिनों में पानी के लिए तरसना पड़ता है। ऐसे में नगर पंचायत जैजैपुर में नल जल योजना के अंतर्गत नगर के कुछ वार्डो में पानी की सप्लाई होती थी।

लेकिन नगर पंचायत जैजैपुर के बस स्टैंड से लेकर यादव के घर तक लाखों रुपए की लागत से नाली का निर्माण कार्य नगर पंचायत के माध्यम से कराया जा रहा। जिसकी खोदाई जेसीबी मशीन से होने के चलते पानी सप्लाई होने वाला पाइप जगह जगह से टूट गया है। यही वजह है कि आज बीते एक सप्ताह से नगर के लोगों को पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है। जिसके कारण नगर के लोगों को इस भीषण गर्मी में पानी के लिए मशक्कत करनी पड़ी रही है। अ लोग बून्द बून्द पानी के लिए इधर उधर भटकने के लिए मजबूर है।

ऐसे में नगर पंचायत के द्वारा टेंकर के माध्यम से पानी की सप्लाई तो की जा रही है लेकिन वह भी पर्याप्त नहीं है। तो वहीं लोग टकटकी लगाए अपने अपने घरों के बाहर नजऱे जमाए बैठे रहते है। कि कब टेंकर आए और हमे पानी मिले, लेकिन लोगों की इस समस्या को देखते हुवे भी। नगर पंचायत के मुख्य कार्यपालिका अधिकारी द्वारा कोई पहल नहीं करना जिससे नगर की लोगो को पानी के लिए परेशानी मत होना पड़े समझ से परे है।

तो अब नाली का दूषित पानी पिएंगे लोग
जिस पाइप लाइन के ऊपर नाली निर्माण कराया जा रही। उसके ठीक नीचे पाइप लाइन बिछा हुआ है। और नाली खुदाई के समय पाइप जगह जगह से टूट भी गया है। जिसके चलते भविष्य में नाली में बहने वाला गंदा पानी रिस कर पाइप में जाएगा ऐसे में नगर पंचायत के लोग लोग जिनके घरो में नल कनेक्शन के माध्यम से पानी जाता है। उनको पानी के साथ ही नाली का गंदा पानी भी पीना पड़ेगा ऐसे में लोगो के स्वास्थ्य पर इसका बुरा असर पडऩा भी तय है।

नाली निर्माण में जमकर भ्रष्टाचार
नगर के बस स्टैंड में बन रही नाली निर्माण कार्य में रोक लगाने और गड़बडिय़ों के आरोप लगाते हुए। नगर के तीन तीन पार्षदों ने इसकी शिकायत नगरीय निकाय मंत्री अमर अग्रवाल से करते हुए नाली निर्माण पर तत्काल रोक लगाने की मांग भी की थी।

लेकिन उसके बावजूद भी स्थानीय नगर पंचायत अधिकारियो की सह पर बेधड़क निर्माण कार्य को जारी रखते हुवे। शासन प्रशासन को आंख दिखाकर चुनौती दे रहा है। जबकि नाली निर्माण कार्य में तय गुणवत्ता मानकों का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि नगर में किस स्तर पर भ्रष्टाचार का बोल बाला है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned