भाई को पिलाई शराब, फिर हत्या कर तालाब में छुपा दिया शव

चचेरे भाई को पहले छककर शराब पिलाई फिर अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर लोहे की रॉड से संघातिक वार कर मौत के घाट उतार दिया।

जांजगीर-पामगढ़. चचेरे भाई को पहले छककर शराब पिलाई फिर अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर लोहे की रॉड से संघातिक वार कर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद राज छुपाने के लिए तालाब किनारे गड्ढा खोदा और उसमें दफना भी दिया। आरोपी भी कितना भी शातिर हो लेकिन पुलिस से दूर नहीं है। पुलिस ने तीसरे दिन तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मौत का कारण जमीन विवाद बताया जा रहा है। इधर शव को निकालकर पुलिस जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार पामगढ़ थाना क्षेत्र के गांव में निवासी अनिल शास्त्री पिता भगवती शास्त्री ने अपने चचेरे भाई राजकुमार शास्त्री से जमीन विवाद को लेकर रंजिश रखा था। 4 जुलाई की शाम अनिल शास्त्री ने राजकुमार शास्त्री को फोन करके बुलाया। फिर अनिल के दो अन्य साथी के साथ मिलकर चारों ने छककर शराब पी। अनिल ने राजकुमार को भी शराब पिलाई। इसी बीच मौका देखकर अनिल ने अपने दो दोस्त दिलेश पिता राजेश्वर पंकज व एक नाबालिग के साथ मिलकर लोहे की रॉड से राजकुमार शास्त्री पर ताबड़तोड़ संघातिक वार कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही राजकुमार शास्त्री की मौत हो गई। इसके बाद राजकुमार शास्त्री के घर वापस नहीं आने पर परिजन खोजबीन करने निकले।

5 जुलाई को भी पूरे दिन खोजबीन किए। उसका कहीं पता नहीं चला। फिर राजकुमार शास्त्री वे परिजनों ने अनिल शास्त्री से पूछता है किया तो पहले तो ना-नुकर करने लगा। फिर उन्होंने अपना गुनाह कबूल कर लिया और उसवे परिजनों को सारी बात बताई। यह सुनकर परिजन सन्न रह गए परिजनों ने इसकी सूचना द पामगढ़ पुलिस को देते हुए रात दर्ज कराई। जिस पर पुलिस ने मुख आरोपी अनिल शास्त्री सहित अन्न र दो आरोपी को हिरासत में लिया । रिपोर्ट सोमवार की दोपहर 12 बजे लिखाई गई वहीं 4 बजे पुलिस तीनों आरोपी पकड़ने में सफलता हासिल की। इसके बाद एसडीएम स अनुमति से शव को बाह निकलवाया। पुलिस तीनों आरोपियं को गिरफ्तार कर जांच कर रही हैं ट नी बताया जा रहा है एक आरोप ची नाबालिग है।

राज छुपाने शव को दफना दिया
आरोपी जुल्म करने के बाद जाएं कितना भी चतुराई करे पु बचना मुश्किल ही नहीं ६ व नामुमकिन है। ऐसा ही कुछ पामगढ़ के मर्डर केस में हुआ। अनिल शास्त्री अपने दो दोस्तों के साथ चचेरा भाई की हत्या कर दिया। इसके बाद राज छुपाने के लिए बकायदा गड्ढ खोदकर शव को दफना भी दिया हालांकि बाद में इसका खुलासा है गया। आरोपी का चतुराई कोई का का नहीं आया।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned