scriptC-Mart open path of self-employment for rural women work build soon | सी-मार्ट महिलाओं के लिए खोलेगा स्वरोजगार की राह, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को भी मिलेगी मजबूती | Patrika News

सी-मार्ट महिलाओं के लिए खोलेगा स्वरोजगार की राह, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को भी मिलेगी मजबूती

जिले में जल्द खुलेगा सी-मार्ट। जिला पंचायत सीईओ की निगरानी में चल रहा सी-मार्ट का कार्य। पढ़िए पूरी खबर।

जांजगीर चंपा

Published: July 01, 2022 01:50:44 pm

जांजगीर-चांपा। जल्द खुलेगा जिले का पहला सी-मार्ट। सी-मार्ट यानी की एक ऐसा बाजार जहां पर सभी प्रोड्क्टस एक ही छत के नीचे मिलेंगे और यह उत्पाद किसी बड़े दुकानदार से नहीं बल्कि उन महिलाओं, शिल्पिकार, बुनकर, दस्तकर, कुम्भकर और अन्य पारंपरिक एवं कुटीर उद्योग से खरीदे जाएंगे जो गांव में तैयार किए जाते हैं। जिला पंचायत सीईओ की निगरानी में चल रहा सी-मार्ट का कार्य। यह वह महिलाएं, संस्थाएं हैं जो गांव में रहते हुए स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़कर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने का काम कर रही है।

lab.jpg

जिले का पहला सी-मार्ट जांजगीर के ह्रदय स्थल कचहरी चौक के पीछे नगर पालिका जांजगीर के बनाए गए जिम, लाइब्रेरी भवन में संचालित किया जाएगा। सी-मार्ट निर्माण एवं संचालित की सतत रूप से मॉनीटरिंग जिला पंचायत सीईओ गजेन्द्र सिंह ठाकुर द्वारा की जा रही है। जिले की ग्रामीण अर्थव्यवस्था और ग्रामीण कामकाजी महिलाओं कोे मजबूत बनाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप ही जिले में सी-मार्ट बनाने की दिशा में तेज गति से कार्य किया जा रहा है। जिले की स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा तैयार किए गए उत्पादों की सूची बनाई गई है। इस सूची के अनुसार ही सी-मार्ट के लिए सामान मंगाया जा रहा है, जिसे जल्द ही स्टॉल में लगाया जाएगा।

सी-मार्ट मील का पत्थर साबित-
जिपं सीईओ ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने सी-मार्ट मील का पत्थर साबित होगा। वर्तमान में अलग-अलग समूह की महिलाओं द्वारा गांवों में उत्पाद तैयार किए जाते हैं, जिन्हें हाट बाजार एवं आसपास के दुकानदारों को बेचकर मुनाफा कमाती हैं, लेकिन सी-मार्ट के खुलने से इन ग्रामीण महिलाओं द्वारा तैयार उत्पाद को शहरों में आसानी से बेचा जा सकेगा और शहरों के अन्य दुकानदार भी यहां से सामान खरीद सकेंगे।

महिला समूहों को मिलेगी नई पहचान-
पारंपरिक उत्पादकों की प्रोसेसिंग, पैकेजिंग, ब्रेडिंग एवं मार्केटिंग के बारे में विस्तार से महिला स्व सहायता समूहों को बताया जाएगा। जिसके बारे में विभिन्न विभागों के समन्वय करते हुए उन्हें सिखाया जाएगा। इससे स्व सहायता समूहों की महिलाओं को नई पहचान मिलेगी और उनका गांव से निकलकर उत्पाद शहरों में आसानी से बिक सकेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरजगदीप धनखड़ आज लेंगे 14वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ, दोपहर 12:30 बजे राष्ट्रपति भवन में होगा समारोहकाले कारनामों को छिपाने के लिए 'काला जादू' जैसे अंधविश्वासी शब्दों का इस्तेमाल करें बंद, राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशानाMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे का इंतजार, गृह और वित्त मंत्रालय पर मंथन जारीमुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज फिर दिल्ली पहुंचे ,उपराष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में होंगे शामिलचुनाव में मुफ्त की योजनाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाईRaksha Bandhan 2022: भाइयों के खुशहाल जीवन और समृद्धि के लिए उनकी राशि अनुसार बांधें इस रंग की राखी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.