गोमूत्र की बिक्री कर लखुर्री के किसान कर रहे लाखों की आमदनी, अब लगाएंगे प्यूरीफाई मशीन

गोमूत्र की बिक्री कर लखुर्री के किसान कर रहे लाखों की आमदनी, अब लगाएंगे प्यूरीफाई मशीन

Vasudev Yadav | Updated: 04 Jun 2019, 06:13:07 PM (IST) Janjgir Champa, Janjgir Champa, Chhattisgarh, India

डेयरी उद्योग के साथ ले रहे तीन तरह के लाभ

जांजगीर-चांपा। लखुर्री के किसानों ने बड़ी मात्रा में डेयरी उद्योग का कारोबार कर एक नहीं दो नहीं बल्कि तीन-तीन तरह से आर्थिक लाभ लेकर संपन्न हो रहे हैं। डेयरी उद्योग से न केवल दूध का उत्पादन कर रहे हैं बल्कि गाय के गोबर से कंपोष्ट खाद के साथ-साथ गोमूत्र को 25 रुपए लीटर में बिक्री कर रहे हैं। इससे उन्हें हर महीने लाखों रुपए की आमदनी हो रही है।

बम्हनीडीह ब्लाक के ग्राम पंचायत लखुर्री के किसान डेयरी उद्योग संचालित कर आर्थिक कमाई का नायाब तरीका ढूंढ़ निकाला है। डेयरी उद्योग से किसान न केवल दूध का उत्पादन कर रहे हैं बल्कि उद्योग से निकलने वाले गोबर खाद के साथ साथ गोमूत्र संचय कर आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे हैं। दरअसल किसानों को अमलेश्वर की एसपी साहू की संस्था ने उन्हें गोमूत्र संचय करने के लिए प्रेरित किया और उन्हें 25 रुपए प्रति लीटर गोमूत्र खरीदने की बात कही। इससे प्रभावित होकर किसानों ने गोमूत्र संचय करना शुरू कर दिया और अमलेश्वर की संस्था को बिक्री करते हैं।

तीन तरह का ले रहे फायदा
लखुर्री के किसान रामप्रकाश केशरवानी ने बताया कि डेयरी उद्योग से तीन फायदे लेते हैं। पहला तो दूध उत्पादन कर दूध को डेयरी उद्योग में बिक्री करते हैं। जिससे उन्हें बोनस भी मिलता है। इसके बाद डेयरी के गोबर से कंपोष्ठ खाद बनाते हैं। जिससे यह खाद भी अच्छे दामों में बिक्री होती है। इसके अलावा डेयरी के गायों से निकलने वाले गोमूत्र को 25 रुपए लीटर में बिक्री कर वे तीन तरह के फायदा लेते हैं। जिससे यहां के प्रति किसानों को हर माह 30 से 40 हजार रुपए की आमदनी होती है।
जिले में भी केंद्र खोलने की मांग
अमलेश्वर की संस्था की तर्ज पर गोमूत्र प्यूरीफाई करने की मशीन लखुर्री में भी लगाई जाएगी। इस मशीन की कीमत मात्र 25 हजार रुपए है। प्यूरीफाई होने के बाद गोमूत्र दवा के काम आती है। किसानों के द्वारा इसकी जानकारी कलेक्टर नीरज कुमार बनसोड़ को भी दी जा चुकी है। कलेक्टर ने यह मशीन यहां भी मंगाने की बात कही है।

इन गुणों से परिपूर्ण गोमूत्र
शास्त्रों में गौमूत्र को बेहद गुणकारी बताया गया है। गोमूत्र को एक महा औषधि माना गया है। इसमें पोटैशियम, मैग्नीशियम क्लोराइड, फास्फेट, अमोनिया, कैरोटिन, स्वर्ण क्षार आदि पोषक तत्व विद्यमान रहते हैं। इसके सेवन से जोड़ों का दर्द, मोटापे पर आसानी से नियंत्रण पा सकते हैं। गोमूत्र से दातों का पायरिया दूर किया जा सकता है। हृदयरोग, पीलिया, कब्ज या पेट, गले का कैंसर, चर्मरोग, आंख के रोग, पेट में कृमि को दूर भगाया जा सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned