ये कैसा स्वच्छता पखवाड़ा, इतनी साफ-सफाई के बाद भी रह गई गंदगी

-स्वच्छता अभियान को दिखा रहे ठेंगा - डेंगू के दस्तक से भी नहीं चेत रहे जिम्मेदार, पखवाड़े की निभा रहे औपचारिकता

By: Vasudev Yadav

Published: 11 Dec 2017, 05:58 PM IST

जांजगीर-चांपा. पालिका द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छता पखवाड़ा के दौरान सड़क किनारे तथा इधर-उधर बिखरे कचरे ने शहर की सफाई व्यवस्था की पोल खोल दी है। शहर में सर्वत्र गंदगी का आलम है। इससे डेंगू फैलने की आशंका भी व्यक्त की जा रही है। जिले में डेंगू के कहर के बाद भी पालिका के साथ स्वास्थ्य विभाग एलर्ट नजर नहीं आ रहा है।

स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छता पखवाड़ा में स्वच्छ शहर, अस्पताल, शौचालय, स्कूल, बस स्टैण्ड, कार्यालय, हॉटल, वार्ड, सड़क, तालाब, नाली, उद्यान, दुकान और घर को स्वच्छ रखने का लक्ष्य रखकर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इन कार्यक्रमों में जनप्रतिनिधियों की सहभागिता भी हो रही है।

शहर में चारों ओर गंदगी का साम्राज्य बना हुआ है और नालियां बजबजा रही है। आमजन के बीच जागरूकता अभियान तो कहीं दिखाई ही नहीं दे रहा है। वार्ड की गलियों से सफाई अभियान पूरी तरह गायब है। वार्डों में नालियों की सफाई की गई, लेकिन कचरे वहीं छोड़ दिए गए। शहर में स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन लोगों के बीच आक्रोश बढ़ाने का काम कर रहा है।

नगरवासियों का मानना है कि नगर पालिका द्वारा स्वच्छता पखवाड़ा चलाया जा रहा है और हमारे वार्ड से नाली सफाई के बाद कचरा नहीं उठाया जा रहा है। नाली साफ कर कचरा छोड़ देना पालिकाकर्मियों की हमेशा की आदत रही है। कचरा निकालने के दो-तीन दिनों बाद उठाया जाता है। इस दौरान कचरा हवा में उड़कर फिर नाली में चले जाते हैं और गुजरने वाले वाहनों के पहिए के माध्यम से पूरे वार्ड में फैलते हैं।

डेंगू का बढ़ रहा खतरा
जिले में डेंगू का प्रकोप बढऩेे के बाद भी यहां पालिका के साथ स्वास्थ्य विभाग विशेष सतर्कता नहीं बरत रहा है। अब तक जिले में डेंगू के दो मरीज सामने आ चूके हैं। बावजूद इसके सफाई व्यवस्था का आलम यह है कि गंदगी से लबरेज नालियों का कचरा सड़क में फैल गया है, जिससे दुर्गंध फैल रही है। पालिका का अमला अभी तक सड़क से गंदगी को हटाने में सफल नहीं हुआ है।

गंदगी के चलते पनपने वाले मच्छरों के चलते डाक्टर भी डेंगू जैसी बीमारी फैलने से इनकार नहीं कर रहे हैं। वैसे जिला प्रशासन इस मामले में कुछ सतर्क हुआ है। पिछले दिनों जिला अस्पताल प्रबंधन को डेंगू की रोकथाम के लिए अलर्ट किया गया है। जिले के सभी अस्पतालों को डेंगू और मलेरिया को लेकर अलर्ट रहने कहा गया है। रोजाना जिला अस्पताल समेत सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंंद्रों, प्राथमिक और उप स्वास्थ्य केंद्रों और निजी अस्पतालों से रिपोर्ट मंगाई जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मलेरिया की तरह डेंगू बुखार भी मच्छरों के काटने से फैलता है। इन मच्छरों को एडीज मच्छर कहते हैं जो बड़े ढीठ और दुस्साहसी मच्छर हैं, जो दिन में भी काटते हैं। वहीं यह मच्छर डेंगू के किसी रोगी को काटने के बाद किसी अन्य स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो वह डेंगू वायरस को उस व्यक्ति के शरीर में पहुंचा देता है।

शहर में सफाई व्यवस्था बनाने पालिका के पूरे अमले को झोंक दिया गया है। इसके लिए नगरवासियों से भी सहयोग की अपेक्षा है- मालती देवी रात्रे, अध्यक्ष नपा जांजगीर

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned