भुइयां पोर्टल से जुड़ा सहकारी बैंक, किसानों की पूरी कुंडली अब ऑनलाइन

भुइयां पोर्टल से जुड़ा सहकारी बैंक, किसानों की पूरी कुंडली अब ऑनलाइन

Vasudev Yadav | Publish: May, 17 2019 07:51:31 PM (IST) Janjgir Champa, Janjgir Champa, Chhattisgarh, India

अल-.अलग बैंकों से डबल कर्ज के साथ नहीं ले पाएंगे अब क्लेम

जांजगीर-चांपा. खरीफ सीजन 2019-20 के लिए सोसायटियों के माध्यम से खाद-बीज वितरण का काम शुरू हो चुका है। 15 मई तक की स्थिति में अब तक खाद-बीज और नकद के रूप में जिला सहकारी बैंकों के माध्यम से 4 करोड़ 59 लाख 85 हजार रुपए का लोन भी बांटा जा चुका है। हालांकि इस बार लोन वितरण की प्रक्रिया में बदलाव किया गया है जिसके तहत जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक को अब भुइयां पोर्टल से जोड़ दिया गया है। यानी किसानों के जमीन की रकबे की जानकारी अब ऑनलाइन दिख रही है । विभागीय अफसरों का कहना है कि इससे अब लोन वितरण में और पारदर्शिता आ गई है।

उल्लेखनीय है कि सहकारी बैंकों के भुईयां पोर्टल से जुडऩे से उन किसानों की परेशानी बढ़ जाएगी जो कि अलग-अलग बैंकों से डबल कर्ज के साथ क्लेम भी ले लेते थे। पोर्टल की वजह से लोन वितरण भी पारदर्शी हो गया है। यानी सहकारी बैंक से कृषि लोन लेने के बाद दूसरे बैंक से कर्ज नहीं मिल पाएगा, क्योंकि रकबा और कर्ज की जानकारी स्पष्ट हो जाएगी। इधर खरीफ फसल के लिए कर्जमाफी के बाद किसानों ने सहकारी बैंक से चार करोड़ 59 लाख 85 हजार रुपए का कृषि लोन ले लिया है। इस बार जिले में कृषि लोन का दायरा भी दो अरब से बढ़ाकर ढाई अरब कर दिया गया है। वहीं समितियों से खाद-बीज का उठाव भी बीते साल की अपेक्षा इस बार दोगुना हो गया है।

Read More : Breaking : पढि़ए क्या हुआ जब शादी समारोह के बाद आधी रात घर लौट रहे बाइक सवार युवक हाथी से टकराए

क्लेम की राशि डबल देने से बचने के लिए उपाय
राज्य शासन की ओर से आर्थिक बोझ और क्लेम की राशि डबल देने से बचने के लिए पहली बार सहकारी बैंकों को भी पोर्टल से जोड़ दिया है, पहले किसान सहकारी बैंक के अलावा अन्य बैंकों से भी कर्ज ले लेते थे और कर्ज अदायगी में परेशान होते थे। हालांकि अब रकबे के हिसाब से एक बैंक से लोन मिलेगा ताकि किसान कर्ज के तले न दबे। इसी तरह क्लेम की स्थिति बनने पर एक ही बैंक से राहत दी जाएगी। शिकायत थी कि एक ही नाम से किसान डबल लोन लेकर परेशानी फंस रहे हैं।

ब्लैक लिस्टेड किसानों को भी मिलेगा कर्ज
कर्जमाफी के बाद जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक की ओर से ब्लैक लिस्टेड किसानों को भी इस बार कृषि ऋण बांटा जाएगा। हालांकि इसके लिए किसानों को पहले अन्य बैंकों से नो ड्यूज लाकर देना होगा तभी सहकारी बैंकों से उन्हें कर्ज मिलेगा। बता दें, शासन ने उनका कर्ज तो माफ कर दिया है लेकिन अब तक उनके खाते में राशि नहीं आई है।

खरीफ सीजन के लिए खाद का उठाव इस बार दोगुना
किसानों की ओर से कर्ज लेने के साथ खरीफ सीजन की तैयारी शुरू कर दी गई है। वर्तमान में समितियों के माध्यम से खाद-बीज का वितरण किया जा रहा है। खेती का कार्य शुरू होने के दौरान खाद-बीज की कमी की परेशानी बढ़ जाती है। इस वजह से किसान अभी से स्टॉक कर रहे हैं।

-सहकारी बैंक अब भुईयां पोर्टल से जुड़ गया है। इससे कृषि कर्ज वितरण और पारदर्शी हो गया है। डबल कर्ज लेने पर ऑनलाइन पूरा रिकार्ड अब मिल जाएगा। अब तक 4 करोड़ 59 लाख 85 हजार रुपए किसानों को नकद और वस्तु के रूप में वितरण किया जा चुका है- कमल सिंह ठाकुर, नोडल अफसर जिला सहकारी बैंक

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned