रोज 2 सौ लोग हो रहे संक्रमित फिर भी बसों में ठूस-ठूस कर भरे जा रहे यात्री, सेनेटाइजेशन भी नही...

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शासन की गाइड लाइन में लोगों को मास्क लगाने और एक दूसरे से 2 मीटर की दूरी रखने की बात कही जा रही है, लेकिन लोग बेपरवाह नजर आ रहे हैं और इस नियम का पालन भी नहीं कर रहे हैं ।

जांजगीर-चांपा. जिले में कोरोनावायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है कोरोनावायरस ओं की संख्या बढ़कर 17000 से अधिक हो गई है कोरोनावायरस कारण 328 लोगों की मौत हो चुकी है । इसके बाद भी कोरोनावायरस से बचने के लिए शासन द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं । गाइडलाइन का पालन करवाने वाले जिम्मेदार जिला प्रशासन भी इस ओर ध्यान नहीं दे रही है ।

कहीं यह लापरवाही भारी न पड़ जाए और जिले में फिर से कोरोना ब्लास्ट ना हो जाए । कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शासन की गाइड लाइन में लोगों को मास्क लगाने और एक दूसरे से 2 मीटर की दूरी रखने की बात कही जा रही है, लेकिन लोग बेपरवाह नजर आ रहे हैं और इस नियम का पालन भी नहीं कर रहे हैं ।

संक्रमण रोकने के लिए पत्रिका ने लगातार मास्क पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लोगों को जागरूक किया, इसके बाद भी लोगों में जागरूकता नहीं आई है । बाजार में 5 फ़ीसदी से भी कम लोग मार्क लगा रहे हैं । अनलॉक में जिलों में बसों का संचालन शुरू हो गया है ।

प्रशासन ने बसों के संचालन शुरू करने से पहले बस ऑपरेटरों को बस में बैठने वाले यात्रियों को संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाने और बसों को साइज करने के निर्देश दिए थे लेकिन अब शासन की गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है ।

जांजगीर-चांपा में ही रोजाना 50 से अधिक बसों का आना-जाना होता है । पत्रिका की टीम ने चांपा के बस स्टैंड में जाकर पड़ताल की तो स्थिति चौंकाने वाली थी । चांपा बस स्टैंड में शासन की गाइडलाइन का कोई भी बस संचालक पालन नहीं कर रहा था । यहां तक कि बस को सैनिटाइज भी नहीं किया जा रहा है ।

बसों को नहीं किया जा रहा है सेनेटाइजेशन

बस आपरेटरों द्वारा बसों को अपने गंतव्य तक रवाना होने से पहले सैनिटाइज नहीं किया जा रहा है । ना ही बसों में बैठने वाले यात्री मास की लगा रहे हैं । इससे संक्रमण फैलने का डर रहता है । सबसे बड़ी बात जिले में चलने वाले चालक व परिचालक भी मास्क लगाए बिना नहीं बस चला रहे हैं ।

ठूस-ठूस कर भरे जा रहे यात्री

बसों और सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क के घूम रहे लोगों के कारण कोरोनावायरस ने का डर है । इसके बाद भी लोगों द्वारा बसों में सफर करने के दौरान अपने मुंह पर मास्क भी नहीं लगाया जा रहा है ।बसों में ठूंस-ठूंस कर सवारियों को बैठाकर सफर कराया जा रहा है । ऐसे में संक्रमण फैलने का सबसे अधिक डर है ।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned