जंजगीर-चांपा. जांजगीर से कुछ किलोमीटर दूर भैसमुड़ी गांव में क्षेत्र भर से आए युवा जमीं पर अपने पैरों से रेस नहीं लगाते बल्कि इनकी अनोखी रेस होती है डंडो से बनी गेड़ी के सहारे दौड़कर। यह रेस देखते ही बनती है। यहां युवा गेड़ी से इतनी तेज रफ्तार में दौड़ते हैं कि घोड़ों की टाप की आवाज भी और रफ्तार भी इनके सामने धीमी पड़ जाती है।

हर साल की तरह इस साल भी पोला त्यौहार के शुभ अवसर पर भैसमुड़ी गांव में गेडी़ दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें आसपास के गांव से आए दर्जनों प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। यहां दौड़ शुरू होने के पहले सीटी बजे इससे पहले सभी प्रतियोगी गेड़ी के ऊपर खड़े होकर पूरी तरह अलर्ट हो गए।

इस दौरान नजारा नेशनल लेवल की किसी रेस से कम नहीं था। सीटी बजते ही प्रतिभागी डंडों के बल यूं सरपट दौड़े कि मिल्खा सिंह की तेज रफ्तार भी उनके सामने कम होती दिखी। गत चार सालों से भैसमुड़ी में लगातार यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। इस प्रतियोगिता के चलते ही इस गांव की पहचान प्रदेश स्तर पर बनी है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा के जिला महामंत्री प्रशांत सिंह ठाकुर रहे। इसके साथ ही यहां भाजपा जिला महामंत्री अमर सुल्तानिया, नवागढ़ जनपद अध्यक्ष पुष्पेंद्र प्रताप सिंहए जिला पंचायत सदस्य ज्योति किशन कश्यप, राजू महंत तृप्ति सिंह, भुनेश्वरी कश्यप समर्थ सिंह, नागेंद्र प्रसाद चतुवेदी, वीरेंद्र कश्यप, गंगाराम कर्ष, सुखपाल कश्यप, भरत कश्यप, गंगासागर साहू सहित बड़ी संख्या में क्षेत्र के लोग मौजूद रहे।

विजेता हुए सम्मानित
लोक संस्कृति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आयोजित इस प्रतियोगिता का आयोजन रविवार को भैसमुड़ी स्थित खेल मैदान में हुआ। प्रतियोगिता में प्रथम पुरुस्कार बोरदा गांव निवासी जसवंत, द्वितीय चितरंजन दास और तृतीय पुरुस्कार बलिराम साहू को मिला। सभी विजेताओं को शील्ड और नगद राशि से सम्मानित किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned