scriptEven after the ban, polythene is being used indiscriminately, the muni | प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से हो रहा पालिथीन का उपयोग, पालिका कभी नहीं करती कार्रवाई | Patrika News

प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से हो रहा पालिथीन का उपयोग, पालिका कभी नहीं करती कार्रवाई

शहर में एक चलन बन चला है, पहले किसी भी चीज पर प्रतिबंध लगाओ, फिर कार्रवाई करो, विरोध हो तो बंद कर दो। इसके कारण कालाबाजारी भी आम हो गई है। इन दिनों यही स्थिति पॉलिथीन को लेकर है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश और ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश के बाद राज्य सरकार ने पॉलिथीन पर प्रतिबंध लगाया, लेकिन जांजगीर में महज कुछ दिन दिखाई दिया। अब एक बार फिर बाजार में पॉलिथीन देखी जा सकती है।

जांजगीर चंपा

Updated: June 23, 2022 09:48:45 pm

कचहरी चौक के आसपास तो यह दुकान, राशन दुकान, पान की दुकानों से लेकर ठेले तक पर आसानी से उपलब्ध है।
गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट और ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश के बाद छत्तीसगढ़ में पॉलिथीन पर प्रतिबंध लगाया गया था। दुकानदार पॉलिथीन में सामान देना बंद कर दें। प्रतिबंध के एक सालभर तक पालिका प्रशासन ने कार्रवाई करनी शुरू की। यह कार्रवाई महज शुरूआत में माह भर चली। इसके बाद बंद हो गई। अब आलम यह है कि बाजार में फिर पॉलिथीन में सामान बिकने लगे हैं। पहले 40 माइक्रॉन तक के पॉलिथीन बैग दिख भी जाते थे, अब काले रंग की पॉलिथीन पसर गई है। इसे विशेषज्ञ सबसे ज्यादा खतरनाक मानते हैं।ं पॉलीथिन पर अमला सुस्त हो गया है। न तो लोगों को जागरूक करने का काम रहे हैं और न ही कोई कार्रवाई। इस दिशा में प्रशासन के आला अफसरों ने दिशा-निर्देश दिए थे, लेकिन सब बेअसर रहा। पॉलीथिन का चलन बढ़ गया है। यह नुक्कड़ में निकलने वाले कचरे से स्पष्ट हो रहा है। कचरे में पॉलीथिन की मात्रा बढ़ गई है। पहले जब पालिका कार्रवाई कर रहा था, तब यह मात्रा घट गई थी। कचरे में 60 फीसदी पॉलीथिन कम हो गया था। लेकिन चलन की वजह से कचरा में पॉलीथिन बढ़ गया है। इसे पालिका के अफसर भी पुष्ट कर रहे हैं। है। पॉलीथिन के अत्यधिक उपयोग के चलते लोग प्रतिदिन प्लास्टिक कचरा घर के बाहर फेंक रहे है। कुछ लोग पॉलीथिन में बचे खाद्य पदार्थ को भी फेंक देते है, जिसे जानवर खा रहे है। पॉलीथीन खाने से प्रतिवर्ष कई पशुओं की असमय मृत्यु हो रही है।
समय-समय पर करना चाहिए जागरूक
वर्तमान में नगर सहित क्षेत्र में पॉलीथिन की समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। शहरवासियों का कहना है कि पूरे शहर का कचरा जहां पर खोखरा रोड में डंप होता है, वहां पर मेन रोड में केवल पॉलिथीन ही नजर आता है। साथ ही मवेशी इस पॉलिथीन को खाते नजर आते है। शासन द्वारा पॉलीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के बावजूद इसका उपयोग बढ़ता ही जा रहा है। साथ ही इससे पर्यावरण को भी कोई नुकसान नहींं पहुंचता था। लेकिन कम लागत के चलते अब हर जगह पॉलीथिन का उपयोग किया जा रहा है। पॉलीथीन से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करना चाहिए।
पॉलीथीन से खेतों को हो रहा नुकसान
पॉलीथिन से होने वाले विपरीत प्रभाव के प्रति लोगों में गंभीरता दिखाई नहीं देती। क्षेत्र मे फैले कचरे मे पॉलीथिन की अधिकता बढ़ती जा रही है। यह कचरे पॉलीथीन के साथ किसी किसी माध्यम से खेतों तक पहुंच रहा है। आजकल नगर सहित गांवों में भी पॉलीथीन प्लास्टिक से बने सामान का उपयोग लोगों द्वारा किया जा रहा है। गांव के लोग अपने घर का निकलने वाले कचरा गोबर को एक निश्चित स्थान में डालते है।
वर्जन
जल्द ही पॉलीथीन पर अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए टीम गठित कर लगातार कार्रवाई की जाएगी।
चंदन शर्मा, सीएमओ
-----------
प्रतिबंध के बाद भी धड़ल्ले से हो रहा पालिथीन का उपयोग, पालिका कभी नहीं करती कार्रवाई
nali

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Floor Test: ‘शक्ति परीक्षण’ से पहले ही CM उद्धव ठाकरे दे सकते है इस्तीफा, कैबिनेट बैठक में मंत्रियों और नौकरशाहों का जताया आभारMaharashtra Politics: 24 घंटे के अंदर सीएम उद्धव ठाकरे ने की दूसरी कैबिनेट बैठक, औरंगाबाद और उस्मानाबाद का बदला नाम, जानें 3 बड़े फैसलेMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी संकट में अमित शाह ने मारी एंट्री, बीजेपी हुई एक्टिव; बनाई ये खास रणनीतिउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपीGST Council Meeting: बैठक के दूसरे दिन राज्यों को झटका, गेमिंग-कसीनों पर नहीं हो सका फैसलाMumbai News Live Updates: विवेक फनसालकर होंगे मुंबई के नए पुलिस कमिश्नर, उद्धव सरकार ने जारी किया आदेशMaharashtra Gram Panchayat Election 2022: महाराष्ट्र में इस तारिख को होगा ग्राम पंचायत चुनाव, अगले ही दिन आएंगे नतीजेअब मनु पंजाबी को मिली हत्या की धमकी, कहा- 4 घंटे में 10 लाख दो होशियारी की तो सिद्धू मूसेवाला जैसा हाल होगा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.