आबकारी ने पांच महीने के भीतर 265 कोचियों को भेजा जेल, बावजूद इसके नहीं रूक रहा शराब का अवैध करोबार

आबकारी ने पांच महीने के भीतर 265 कोचियों को भेजा जेल, बावजूद इसके नहीं रूक रहा शराब का अवैध करोबार

Shiv Singh | Publish: Sep, 03 2018 12:38:59 PM (IST) Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India

आरोपियों के कब्जे से बड़ी मात्रा में अवैध शराब भी जब्त की गई

जांजगीर-चांपा. आबकारी विभाग की उडऩदस्ता टीम ने एक अप्रैल से 31 अगस्त 2018 तक पांच माह में 265 शराब तस्करों को पकड़ा है। आरोपियों के कब्जे से बड़ी मात्रा में अवैध शराब भी जब्त की गई है। जिले का यह आंकड़ा पूरे प्रदेश में टॉप पर है। दीगर जिले में आंकड़ा 200 अंक पार नहीं कर पाया है।

इतने मामलों को देखते हुए अंदाजा लगाया जा सकता है कि पूरे प्रदेश में अवैध शराब की बिक्री में जांजगीर चांपा जिला अव्वल है। आबकारी विभाग की उडऩदस्ता टीम द्वारा लगातार धर पकड़ की कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद भी शराब तस्कर अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

Read more : डॉक्टर की पिटाई मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली से डॉक्टर्स नाराज, दी आंदोलन की चेतावनी


जिले में अवैध शराब की बिक्री थमने का नाम नहीं ले रही है। गांव के गली कूचों में कच्ची महुआ शराब की बिक्री हो रही है। जिस पर नकेल कसने के लिए कलेक्टर नीजर बनसोड़ के निर्देशन में सहायक आयुक्त आबकारी अरविंद पाटले, जिला आबकारी अधिकारी दिनकर वासनिक के मार्गदर्शन में उडऩदस्ता प्रभारी पीएल नायक के द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है।

इसके बावजूद मौजूद वित्तीय वर्ष में एक अप्रैल से लगातार छापेमारी की गई। जिसमें उडऩदस्ता टीम ने 265 शराब तस्करों के खिलाफ छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम की धारा 34 एक क, धारा 36 सी, 36 च, 34 दो के तहत के तहत आपराधिक प्रकरण बनाए गए। इतने सात आरोपी ऐसे हैं ऐसे पाए गए जिनके ठिकानों से शराब का जखीरा मिला और वे जेल की सलाखों के पीछे अब भी निरुद्ध हैं।

इसी तरह अब तक दर्ज 265 प्रकरणों में 100 मामले ऐसे पाए गए हैं जो केवल अगस्त माह में अवैध शराब बिक्री करते पकड़े गए हैं। यानी उडऩदस्ता टीम ने एक माह के भीतर हर रोज तीन-तीन शराब तस्करों को पकड़कर 100 प्रकरण दर्ज किया है। उक्त कार्रवाई में आबकारी उडऩदस्ता टीम में प्रभारी पीएल नायक, एसआई तेज बहादुर कुर्रे, कल्पना राठौर, प्रधान आरक्षक कुलदीप शर्मा, बोधराम राठिया, मनोज तिवारी सहित टीम का योगदान था।

Ad Block is Banned