scriptFarmers were called to give prizes and returned barring | पुरस्कार देने किसानों को बुलाया और बैरंग लौटाया | Patrika News

पुरस्कार देने किसानों को बुलाया और बैरंग लौटाया

एक्सटेंशन रिफाम्र्स आत्मा योजनांतर्गत उन्नत कृषक पुरस्कार योजना के पात्र किसान उस वक्त निराश होकर लौट गए जब किसानों को पुरस्कार से वंचित कर दिया गया। जांजगीर-चांपा जिले से ७ किसानों की सूची भेजी गई थी। बाकायदा किसान पुरस्कार के लिए मंच में अपनी बारी का इंतजार करते रहे लेकिन उनके नामों की घोषणा ही नहीं की गई। जिसके चलते किसानों को बैरंग लौटना पड़ गया।

जांजगीर चंपा

Published: April 16, 2022 06:32:06 pm

जांजगीर-चांपा। कृषि के क्षेत्र में प्रदेश में जांजगीर-चांपा जिले का नाम टॉप क्रम में है। जिसे के किसान नवाचारी के क्षेत्र में अच्छी उपलब्धि लिए बैठे हैं। यही वजह है कि राष्ट्र स्तरीय कृषि मेले में जिले के सात किसानों का नाम जिला कृषि अधिकारी ने नाम भेजा था। इन किसानों को धान, पशुपालन, मछली पालन, उन्नत कृषि, दलहन, तिलहन सहित कई क्षेत्र में इनकी उपलब्धि को देखकर इन्हें पुरस्कृत करना था। लेकिन सभी जिले के किसानों को तो पुरस्कृत किया गया लेकिन जांजगीर-चांपा जिले के किसानों को बैरंग लौटा दिया गया। जिससे किसान हतोत्साहित होकर बैरंग लौट गए। हद तो तब हो गई जब कार्यक्रम खत्म हो गया तो किसानों को भोजन पानी भी नसीब नहीं हुआ। ऐसे में किसान भूखे प्यासे लौट गए। जिले के प्रगतिशील कृषक दीनदयाल यादव ने बताया कि जिले के किसान उत्साह के साथ कृषि मेले में मुख्यमंत्री के हाथों पुरस्कार मिलेगा यह सोचकर गए थे लेकिन उन्हें पुरस्कार के बजाए तिरस्कार मिला। जो उनके लिए काफी पीड़ादायक साबित हुआ।
नहीं देना था तो बुलाया क्यों?
जिले के किसानों ने बताया कि यदि उन्हें पुरस्कृत करने के लिए बुलाया गया था तो पुरस्कार क्यों नहीं दिया। यदि नहीं देना था तो बुलाया क्यों। क्या सरकार किसानों को अपमान के लिए बुलाया था। इस दिशा में कृषि विभाग के अधिकारियों ने मंच पर चुप्पी क्यों साधी थी। जिले के कृषि अधिकारियों की यह घोर लापरवाही है। क्योंकि उनके मार्गदर्शन में उनका नाम चयन हुआ था।
कृषक का नाम पुरस्कार के क्षेत्र
१. रजनी पटेल कटनई धान
२. संतोष राठौर अफरीद धान
३. अमृत कुंवर मरकाडीह दलहन
४. रोहित चंद्रा सुखदा तिलहन
५. कमला कश्यप उद्यान स्तर
६. साधना यादव बहेराडीह पशुपालन
७. पवित्रा पटेल अकलतरा पशुपालन
वर्जन
मुझे इस संबंध में जानकारी नहीं है। क्योंकि मैं छुट्टी में हूं। इस संबंध में कृषि अधिकारी आरएल गांगे ही अच्छे से बता पाएंगे।
-एमआर तिग्गा, डीडीए
पुरस्कार देने किसानों को बुलाया और बैरंग लौटाया
पुरस्कार देने किसानों को बुलाया और बैरंग लौटाया

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : शुक्रवार को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानMP में ओबीसी आरक्षण: जिला पंचायत 30, जनपद 20 और सरपंचों को 26 फीसदी आरक्षणInflation Around the World: महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारसावधान! अब हेलमेट पहनने के बावजूद कट सकता है 2 हजार रुपये का चालान, बाइक चलाने से पहले जान लें नया नियमIPL 2022 RR vs CSK: चेन्नई को हरा टॉप 2 में पहुंची राजस्थानIPL 2022 Point Table: गुजरात और राजस्थान ने प्लेऑफ में टॉप 2 में जगह की पक्की, आरसीबी-मुंबई दिल्ली भरोसेबैंक में डाका डालने से पहले चोरों ने की विधिवत पूजा, फिर लॉकर से उड़ा ले गए गहने और कैशOla-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार पर भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.