मंगल भवन के एक जर्जर कमरे में लग रही पांच कक्षाएं

Rajkumar Shah

Publish: Oct, 12 2017 07:28:15 PM (IST)

Janjgir, Chhattisgarh, India
मंगल भवन के एक जर्जर कमरे में लग रही पांच कक्षाएं

डभरा के वार्ड क्रमांक सात के प्रायमरी स्कूल का मामला, मध्यान्ह भोजन के लिए जाना होता है दूर

जांजगीर-चांपा. नगर पंचायत डभरा के वार्ड क्रमांक सात में संचालित नवीन प्राथमिक शाला उधारी के भवन में कक्षाएं संचालित हो रही है।

ग्राम छुहीपाली के कुछ हिस्सों को नगर पंचायत डभरा में सम्मिलित किया गया है, जो अभी नगर पंचायत का वार्ड क्रमांक सात है, जहां वर्ष 2006 से नवीन प्राथमिक विद्यालय स्वीकृत है, जो कि 11 बरसों बाद भी भवन के लिए तरस रहा है।

भवन विहीन इस विद्यालय की कक्षाएं जर्जर हो चुके बरसों पूर्व निर्मित मंगल भवन में संचालित हो रही है। इस नवीन प्राथमिक शाला वार्ड क्रमांक सात में कुल 16 छात्र छात्राएं कक्षा पहली से 5वीं तक अध्ययन करते है। मंगल भवन में मात्र एक ही कमरा है,

जहां एक कमरें में कक्षा पहली से पाचवीं तक की कक्षाएं लग रही है। जिसके कारण विद्यालय में हर साल छात्र छात्राओं की दर्ज संख्या घट रही है। वर्ष 2006 से संचालित यह विद्यालय पहले एक ग्रामीण के घर के बरामदे में संचालित किया जा रहा था, अब 2009 से जर्जर हो चुके एक कमरे के मंगल भवन में विद्यालय चल रही है।

मंगल भवन के छत जर्जर हो चुके हैं, जिस कारण नौनिहाल जान जोखिम में डालकर कमरे में पढ़ते हैं। वहीं विद्यालय के लिए आज तक कोई भवन शासन प्रशासन द्वारा स्वीकृत नहीं किया गया है, बल्कि 11 सालों से यहां कोई सुविधा तक नहीं है।

सरकार द्वारा संचालित मध्यान्ह भोजन पकाने के लिए किचन शेड तक नहीं बना है, जिसके कारण महिला समूह के सदस्यों द्वारा मध्यान्ह भोजन घर में पकाया जाता है। महिला समूहों द्वारा मध्यान्ह भोजन जहां पकाया जाता है, वह घर विद्यालय से दूर है, जिसके कारण नौनिहाल मध्यान्ह भोजन खाने महिला समूह के सदस्यों के घर जाते है। मध्यान्ह भोजन विद्यालय में नहीं पकने के कारण बच्चों को स्कूल में भोजन नहीं कराया जा रहा है।


विधायक ने लिखा पत्र- प्राथमिक शाला के भवन विहिन होने की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्रीय विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव ने नए विद्यालय भवन के लिए डीएमएफ मद से 12 लाख रुपए की स्वीकृति के लिए कलेक्टर को पत्र लिखा है, मगर अभी तक प्रशासन द्वारा स्वीकृति नहीं मिली है।


इनका कहना है- इस संबंध में शा नवीन प्राथमिक शाला वार्ड क्रमांक सात के प्रभारी प्रधान पाठक पुष्पा चन्द्रा ने कहा कि प्राथमिक शाला भवन नहीं होने के कारण मंगल भवन में लग रही है।

भवन में एक ही कमरे में पढ़ाई होती है, जिस कारण पढ़ाई में बच्चों को असुविधा हो रही है। इस बारे में विभागीय अधिकारियों को अवगत करा चुके हैं। वहीं इस बारे में नगर पंचायत डभरा के वार्ड क्रमांक सात के पार्षद किरण टण्डन ने बताया कि विद्यालय उधारी के भवन में संचालित हो रही है,

जिस कारण स्कूली बच्चों को भारी असुविधा होती है। नगर पंचायत डभरा के सीएमओ प्रहलाद पाण्डेय ने कहा कि वार्ड क्रमांक सात में प्राथमिक विद्यालय संचालित है, जो भवन विहीन है। भवन की स्वीकृति के लिए शासन को पत्र प्रेषित किया जाएगा।

Ad Block is Banned