scriptGet a menu board installed when the patients are given what food: Coll | मरीजों को कब क्या खाना दिया जाता है इसका मेनु बोर्ड लगवाएं : कलेक्टर | Patrika News

मरीजों को कब क्या खाना दिया जाता है इसका मेनु बोर्ड लगवाएं : कलेक्टर

locationजांजगीर चंपाPublished: Oct 03, 2022 09:26:26 pm

Submitted by:

Anand Namdeo

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर मरीजों को उपलब्ध कराए जा रहे स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। इस दौरान भर्ती मरीजों को दिए जाने वाले भोजन का भी जायजा लिया और चखकर भी देखा। वहीं अस्पताल में मरीजों को सुबह, दोपहर और शाम को कब-कब क्या क्या नाश्ता और खाना दिया जाता है इसका मेन्यु बोर्ड लगाने के निर्देश दिए।

मरीजों को कब क्या खाना दिया जाता है इसका मेनु बोर्ड लगवाएं : कलेक्टर
मरीजों को कब क्या खाना दिया जाता है इसका मेनु बोर्ड लगवाएं : कलेक्टर
जांजगीर-चांपा. कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय परिसर के सोनोग्राफी कक्ष, आपात चिकित्सा कक्ष, प्रसव कक्ष, टीकाकरण कक्ष, सर्जरी वार्ड, आइसोलेशन वार्ड, रसोई कक्ष, स्टोर रूम, पैथोलौजी, दवा वितरण कक्ष, मरीजों के बेड व्यवस्था सहित अन्य सुविधाओं का निरीक्षण किया तथा जिला चिकित्सालय परिसर में बेहतर साफ-सफार्ई व्यवस्था रखे जाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने मरीजों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखनेए उचित चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने तथा मेडिकल वार्ड में ज्यादा भीड़ वाली स्थिति से बचने के लिए एक मरीजए एक परिजन का नियम लागू करने कहा। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय में बनाये जा रहे हमर लैब के निर्माण कार्यों का अवलोकन किया और हमर लैब में काउंटर, मशीनों के रख-रखाव, दरवाजा आदि का निर्माण सुव्यवस्थित ढंग से करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान नगर पालिका अध्यक्ष भगवान दास गढ़ेवाल, सिविल सर्जन अनिल जगत सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
वार्डो की खिड़कियों में जाली लगाई जाए
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने मेडिकल वार्डों में मच्छरों से बचाव के लिए खिडि़कियों में जाली लगाए जाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने मेडिकल वार्ड के खिड़कियों का निरीक्षण करते हुए मरीजों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्य कराये जाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय परिसर में मरीजों के सुविधाओं को बढ़ाने के लिए रैन बसेरा का निर्माण करने कहा तथा संबंधित अधिकारियों को कार्ययोजना बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि जिला अस्पताल में मरीजों के परिजनों के रहने और ठहरने के लिए कोई इंतजाम नहीं है। पूर्व में अटल समरसता भवन बना था जिसे आयुष विंग में बदल दिया गया है।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.