जगदीश बंसल के विरुद्ध हुआ एफआईआर दर्ज

आरोपियों ने झूठा घोषणा पत्र पेश कर शासन को दो लाख 20 हजार रुपए का नुकसान पहुंचाना पाया गया था।

By: Rajkumar Shah

Published: 10 Feb 2018, 11:01 AM IST

सक्ती. लंबे समय से शिकायतकर्ताओं एवं जगदीश बंसल के बीच शासकीय जमीन पर हेराफेरी के मामले को लेकर शिकायत एवं जवाब देने की जंग छिड़ी हुई थी

जिसमें अंतत: सक्ती तहसील अंतर्गत आने वाले ग्राम डोंगिया के शिकायत कर्ताओं को जीत मिली। ज्ञात हो कि डोंगिया में बेशकीमती जमीन के फर्जीवाड़े मामले में सक्ती निवासी जगदीश बंसल पिता राम फल विक्रेता नत्थूराम पिता गौतम एवं मोजे लाल पिता बिसाहू राम सतनामी के खिलाफ सक्ती एसडीएम ने तहसीलदार सक्ती को पत्र लिखकर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे, जिसमें थाने में एफआईआर कराई गई है।


बताया जाता है कि आरोपियों ने झूठा घोषणा पत्र पेश कर शासन को दो लाख 20 हजार रुपए का नुकसान पहुंचाना पाया गया था। इस आधार पर अफसरों ने एफआईआर के निर्देश दिए हैं। ज्ञात हो कि वाद भूमि खसरा नंबर 390/२ एवं 390/3 के संबंध में हल्का पटवारी प्रतिवेदन दिया है।

इसके अनुसार भूमि राष्ट्रीय राजमार्ग से लगी हुई है जबकि क्रेता एवं विक्रेता द्वारा झूठा घोषणा पत्र पेश कर वाद भूमि मुख्य मार्ग से 500 मीटर दूर बताकर झूठा घोषणा पत्र के कारण रजिस्ट्री शुल्क में हेराफेरी की गई शासन के मुताबिक मुख्य मार्ग पर 46 मीटर तक 9 लाख प्रति हेक्टेयर की दर से लेना था एवं असिंचित दर 20 लाख 10 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से जमा किया गया

इस संबंध में उप पंजीयक सक्ती से प्रतिवेदन लिया गया उप पंजियक सक्ती ने गणना कर उक्त खसरा भूमि में एक लाख बीस हजार सात सौ बहत्तर एवं एक लाख रुपए शासन को क्षति हुआ है इस प्रकार क्रेता जगदीश बंसल विक्रेता नत्थूलाल व मोजेलाल के द्वारा झूठा घोषणा पत्र पेश कर शासन की 2 लाख 21 हजार 122 कि क्षति पहुचाना पाया गया जो कि अपराधिक कार्य है। इसके चलते एसडीएम सक्ती ने थाने में आरोपियों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने के निर्देश दिए। पुलिस ने क्रेता जगदीश बंसल विक्रेता मौजेलाल सतनामी नत्थूराम सतनामी के खिलाफ धारा 420, 467, 468, 471, 34 में जुर्म दर्ज किया है।

Rajkumar Shah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned