हत्या के आरोप में जीजा समेत चार गिरफ्तार, संपत्ति की लालच में ढाई लाख की सुपारी देकर करवा दी थी हत्या

हत्या के आरोप में जीजा समेत चार गिरफ्तार, संपत्ति की लालच में ढाई लाख की सुपारी देकर करवा दी थी हत्या

Vasudev Yadav | Publish: May, 16 2019 07:47:42 PM (IST) Janjgir Champa, Janjgir Champa, Chhattisgarh, India

- केराझरिया चांपा की घटना

जांजगीर-चांपा. अपनी विक्षिप्त सिस्टर इन लॉ की संपत्ति को हड़पने की लालच में तुलसी भवन जांजगीर के अपना बाजार का प्रोपाइटर पुरूषोत्तम अग्रवाल ने तीन लोगों को सुपारी देकर सिस्टर इन लॉ की हत्या करा दी। तीन लोगों ने महिला की हत्या कर जला दिया और चांपा के केराझरिया में शव को फेंक दिया। कई दिनों बाद बुधवार को पुलिस को इसका सुराग लगा और वारदात को अंजाम देने वाले चार लोगों को गिरफ्तार कर पुलिस ने न्यायिक रिमांड में भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक तुलसी भवन जांजगीर के अपना बाजार का प्रोपाइटर पुरूषोत्तम अग्रवाल की पत्नी उमा ने चांपा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसकी छोटी बहन नीतू मित्तल पति हरिराम मित्तल 40 डोंगाघाट चांपा स्थित अपने घर जाने के लिए निकली थी, लेकिन उसका पता नहीं चल रहा है। वह लापता है। चांपा पुलिस ने गुम इंसान दर्ज कर उसकी तलाश कर रही थी। गुम इंसान की जांच के लिए पुलिस निकली थी। इसी दौरान पुलिस ने महिला के पड़ोस के रहने वाले सुदीप मित्तल से पूछताछ की। जिसमें पता चला कि 28 मार्च की रात को बिरगहनी निवासी मयंक मित्तल उर्फ लक्की मित्तल ने सुदीप मित्तल के साथ मिलकर नीतू की हत्या कर दी है।

Read More : तेंदूपत्ता एकत्र करने जंगल गए परिवार का हाथियों के झुंड से हो गया सामना, जान बचाने भाग रहे एक महिला को हाथियों ने दौड़ाकर मारा

 

उन्होंने नीतू मित्तल को केराझरिया के अपने बंद पड़े क्रशर में बुलाकर नीतू के जीजा पुरूषोत्तम अग्रवाल एवं मयंक मित्तल के साथ केराझरिया स्थित क्रशर में पहले गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। शव को ठिकाना लगाने के लिए केराझरिया में जला दिया और फेंक दिया गया। पुलिस ने सुदीप मित्तल की निशानदेही पर नीतु मित्तल का शव खोपड़ी बरामद कर लिया है। पुलिस ने आरोपी सुदीप मित्तल पिता रमेश मित्तल (32) पुरूषोत्तम अग्रवाल (५२), मयंक मित्तल उर्फ लक्की एवं छोटू पठान को धारा 302, 201, 34 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। चारों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने हथियार जब्त कर लिया है।

संपत्ति को आपस में बांटने की साजिस
दरअसल नीतू मित्तल की चांपा में जमीन है। नीतू की मौत के बाद उसे बेचकर आपस में बांट लेंगे और नीतू की दूसरी बहन को वृद्धाश्रम भेजने की प्लानिंग की। हत्या के लिए उन्होंने सुदीप को चुना। सुदीप को इसके लिए दो लाख 25 हजार रुपए में हत्या के लिए तैयार किए। दरअसल सुदीप को पैसे की आवश्यकता थी। जिसके कारण वह हत्या के लिए तुरंत तैयार हो गया।
वारदात को अंजाम देने वाले सुदीप मित्तल को बोले कि तुम हम लोगों से छह माह तक मत मिलना, ताकि किसी को शक न हो। इसके बाद पुरूसोत्तम अग्रवाल के द्वारा सुदीप मित्तल को 25 हजार रुपए दिया गया। छह माह के बाद शेष रकम दो लाख को देने की बात कही गई। सुदीप को धमकी भी दी गई कि इस बात को किसी को मत बताना। नहीं तो तुमको फंसा देंगे।

इस तरह जलाया शव
नीतु के जीजा पुरूषोत्तम अग्रवाल के द्वारा सुदीप को कहा गया कि शव को ठिकाना लगाने के लिए भरोसे का आदमी लाना ताकि शव को ठिकाना लगाई जा सके। दूसरे दिन सुदीप मित्तल व छोटू पठान क्रशर आए तो उन्हें एक प्लास्टिक बोरी एवं पानी भरने के एक ड्रम बंद हालत में दिए और कहा इसमें नीतू मित्तल की कटी हुई लाश है उसे दूर ले जाकर सुनसान इलाके में जला देना। इसके बाद सुदीप व छोटू पठान दोनों बाइक में लेकर चांपा स्थित हनुमान धारा गए और वहां जाकर पेट्रोल डालकर बोरी व ड्रम को जला दिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned