scriptOh my god... if the water tank itself is dry, how will the water reach | हे भगवान....पानी टंकी ही सूखा पड़ा तो घरों में कैसे पहुंचेगा पानी! | Patrika News

हे भगवान....पानी टंकी ही सूखा पड़ा तो घरों में कैसे पहुंचेगा पानी!

ग्राम पंचायत जिस जगह पर पानी टंकी लगाने से मना किया गया था उसी जगह पर आंख मूंदकर पानी टंकी तान दी। नतीजा पानी टंकी बनने के छह माह भी लोगों के घरों में लगाए गए नल कनेक्शनों में बूंदभर पानी नहीं पहुंच रहा क्योंकि बोर का पानी ही टंकी पर नहीं चढ़ रहा। ऐसे में लाखों रुपए खर्च करने के बावजूद ग्रामीण पानी के लिए तरस रहे हैं।

जांजगीर चंपा

Published: March 31, 2022 10:00:58 pm

जांजगीर/पहरिया. मामला बलौदा ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत दहकोनी का है। यहां जल जीवन मिशन के तहत घरों में पानी पहुंचाने के उद्देश्य से २ नग सौलर चलित पानी टंकी लगाई गई है। पानी टंकी लगाने का काम पीएचई ने क्रेडा के माध्यम से कराया है। बताया जा रहा है कि जिस स्थान पर बोर था उक्त स्थान पर पानी टंकी लगाने पंचायत के सरपंच के द्वारा मनाही की गई थी मगर फिर भी क्रेडा के द्वारा उसी स्थान पर टंकी खड़ी कर दी गई क्योंकि वहां पर बोर था लेकिन आखिर वहीं हुआ जिसके चलते मनाही की गई थी। टंकी तो खड़ी हो गई लेकिन बोर का पानी टंकी तक नहीं चढ़ पाया। अब ऐसे में जब टंकी ही नहीं भर पा रही है तो कनेक्शन में आखिर पानी जाएगा कैसे। लोगों के घरों में कनेक्शन तो लगा है कि पानी बूंदभर भी नसीब नहीं हो रहा।
मात्र ६२ लोगों में ही कनेक्शन
जल जीवन मिशन के तहत हर घर में पानी पहुंचाने का उद्देश्य से करोड़ों रुपए पानी की तरह बहाया जा रहा है लेकिन काम में गुणवत्ता की जमकर अनदेखी की जा रही है। मनमर्जीपूर्वक ठेकेदार काम कर रहे हैं। पाइप लाइन चंद दिनों में लिकेज हो रही है। वहीं गिनती के घरों में कनेक्शन दिया जा रहा है। ग्राम पंचायत दहकोनी में ही एक टंकी से ३२ तो दूसरे टंकी से ३० घरों में कनेक्शन दिया गया है। जबकि गांव में घरों की संख्या इससे कहीं अधिक है। मगर जिम्मेदारों का कहना है कि ६२ कनेक्शन बांटने ही सेक्शन हुआ था इसीलिए ६२ कनेक्शन ही दिए गए हैं।
कनेक्शन दे दिए पर पानी नहीं आता
गांव के जीवन भोई, राजकुमार भोई, जीवन वैष्णव, रमाशंकर लोहार, जयकुमार बरेठ ने बताया कि घरों में कनेक्शन लगा दिया गया है लेकिन टंकी से पानी सप्लाई ही नहीं हो रही जिससे कनेक्शन लगने के बाद भी पानी बाहर से लाना पड़ता है।
वर्जन
टंकी बनाने पूर्व में ही मना किया गया था, फिर भी वहां भी टंकी बनाई गई है। अब टंकी में बूंदभर पानी नहीं चढ़ रहा। इसीलिए घरों में ही पानी नहीं पहुंच पा रहा है। क्रेडा विभाग को कई बार अगवत करा चुके हैं लेकिन आज तक कोई हल नहीं निकाया गया।
खिलेश्वरी श्रीवास, सरपंच दहकोनी
हे भगवान....पानी टंकी ही सूखा पड़ा तो घरों में कैसे पहुंचेगा पानी!
हे भगवान....पानी टंकी ही सूखा पड़ा तो घरों में कैसे पहुंचेगा पानी!

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: शिवसेना में जारी घमासान का फायदा उठाने में जुटी MNS, महासंपर्क अभियान का किया ऐलानRahul Narwekar: जानें कौन हैं महाराष्ट्र विधानसभा के नए स्पीकर राहुल नार्वेकर, जो कभी रहे थे शिवसेना और NCP के खासवायरल फोटो के बाद गहलोत के मंत्रियों के निशाने पर कटारिया, भाजपा से माफी की मांगआप नेता अग्निपथ योजना के खिलाफ 'प्रतीकात्मक विरोध' के रूप में प्रधानमंत्री मोदी को भेजेंगे 420 रुपएENG vs IND: टेस्ट में ब्लू कैप पहनकर उतरे क्रिकेटेर्स, दिलचस्प है इसके पीछे की वजहमस्क-बेजोस सहित कई अरबपतियों की दौलत में भारी गिरावट, जुकरबर्ग की संपत्ति हुई आधीराहुल गांधी के बयान को उदयपुर की घटना से जोड़ा, जयपुर में रिपोर्ट दर्जMumbai News Live Updates: सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा- बालासाहेब ठाकरे की मान्यताओं के आधार पर बीजेपी-शिवसेना सरकार ने कार्यभार संभाला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.