मजदूरों की बहाली के लिए एचएमएस मजदूर संघ कर रहा अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन

केएसके द्वारा भूविस्थापितों को एकतरफा नीति से किया गया बर्खास्त, जमीन खोने के बाद नौकरी भी गई हाथ से, शासन प्रशासन गंभीर नहीं

By: Vasudev Yadav

Published: 22 Feb 2020, 01:02 PM IST

जांजगीर. केएसके महानदी पावर कम्पनी लिमिटेड नरियरा के द्वारा विगत पांच महीने से निलंबित भूविस्थापितों मजदूरों को एकपक्षीय कार्यवाही करते हुए सेवा से बर्खास्त कर दिया गया। जबकि बहाली के लिए एचएमएस यूनियन लगातार आंदोलन जारी रखाहै।

शासन प्रशासन के अनदेखी के वजह से भूविस्थापित किसान परिवार के मजदूर जमीन खोने के बाद नौकरी भी खो दिए। ऐसे में शासन प्रशासन की जिम्मेदारी पर गंभीर सवाल उठता है। ज्ञात हो कि निर्माण के समय से ही यह प्लांट विवादों में रहा है। हमेशा से किसान मजदूर सभी वर्ग का भारी शोषक रहा है।

अभी वर्तमान में भी एचएमएस मजदूर संघ के द्वारा मजदूरों की बहाली के लिए लगातार 60 दिन हो गए अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन जारी है। इसके बाद भी कम्पनी प्रबंधन तो दूर शासन-प्रशासन ने सुध तक नही ली है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 20 भूविस्थापित मजदूरों को बर्खास्त कर दिया गया है। ऐसे में उनके परिवार का भविष्य खतरे में पड़ गया है।

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned