scriptPoison dissolving in the air due to ash, how to be environment safe | राखड़ से हवाओं में घुल रहा जहर, ऐसे में कैसे हो पर्यावरण सुरक्षित | Patrika News

राखड़ से हवाओं में घुल रहा जहर, ऐसे में कैसे हो पर्यावरण सुरक्षित

५ जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाएगा। हरियाली और प्रकृति को बचाने के लिए खूब नारे लगाए जाएंगे लेकिन जिले में जिस तरह से इन दिनों प्लांटों से निकलने वाले राखड़ हवा में जहर बनकर घुल रहा है उससे आखिर हमारा पर्यावरण कैसे सुरक्षित होगा।

जांजगीर चंपा

Published: June 04, 2022 06:38:07 pm

जांजगीर-चांपा. नदी-तालाबों से लेकर गांव-गलियों में हर ओर राखड़ पाटा जा रहा है। ग्रामीणों का सांस लेना दूभर होता जा रहा है। वहीं पर्यावरण को सुरक्षित बनाने के लिए जिम्मेदार विभाग भी इस ओर नजरें फेरकर बैठा हुआ है जिससे ढेरों शिकायतें होने के बावजूद प्लांटों के द्वारा राखड़ डंप करने का सिलसिला बदस्तूर जारी है।
गौरतलब है कि जिले में वैसे भी वनक्षेत्र कम है। ऊपर से बढ़ते औद्योगिकरण के कारण नदी-नाले और जंगल सिकुड़ते जा रहे हैं। ऊपर से पावर प्लांटों के द्वारा पर्यावरण को प्रदूषित करने कोई कोर कसर भी नहीं छोड़ी जा रही है। खासकर डभरा, मालखरौदा क्षेत्र में इन दिनों राखड़ डंपिंग यार्ड बनता जा रहा है। गांव में जहां खाली पड़ी जमीन नजर आ रही है वहां सैकड़ों गाडिय़ां राखड़ डंप करने का सिलसिला शुरु हो जा रहा है। विडंबना यह है कि इस कार्य में गांव के कुछ जनप्रतिनिधि भी उनका साथ देने में पीछे नहीं है जिससे ग्रामीणों को राखड़ की धूल खानी पड़ रही है।
लाखों शिकायत के बाद भी नहीं लग रही रोक
गांवों और नदी-नालों में राखड़ पाटने को लेकर ढेरों शिकायतें हो रही है मगर किसी के ऊपर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। न ही जिला प्रशासन के द्वारा ऐसे प्लांट संचालकों के ऊपर बड़ी और सख्त कार्रवाई की जा रही है और न ही पर्यावरण विभाग की कार्रवाई का अता-पता नहीं है। छोटी मोटी कार्रवाई ही हो रही है। पर्यावरण विभाग ने तो जैसे इस ओर से आंख ही मूंद ली है। जिले में पर्यावरण विभाग का दफ्तर भी नहीं है जिससे पर्यावरण विभाग का यहां कोई डर ऐसे लोगों में नजर नहीं आ रहा है और खुलेआम पर्यावरण को मारने में लगे हुए हैं।
राखड़ से हवाओं में घुल रहा जहर, ऐसे में कैसे हो पर्यावरण सुरक्षित
राखड़ से हवाओं में घुल रहा जहर, ऐसे में कैसे हो पर्यावरण सुरक्षित

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

अरविंद केजरीवाल ने जारी किया मिस्ड कॉल नंबर, भारत को नंबर वन देश देखने वालों से की घंटी बजाने की अपीलCBI Raids Manish Sisodia House Live Updates: मनीष सिसोदिया के घर CBI रेड के विरोध में प्रदर्शन कर रहे AAP कार्यकर्ताओं पुलिस ने हिरासत में लियाबंगाल, महाराष्ट्र में भी ED के छापे, उनके सामने तो मैं तिनका हूँ, 'सांसद अफजाल अंसारी ने दी चुनौती- पूर्वांचल हमारा ही रहेगा'बिलकिस बानो केसः 6000 से अधिक सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट से दोषियों की रिहाई को रद्द करने की मांग कीJanmashtami 2022: मुंबई और ठाणे में इन जगहों पर लगी है सबसे उंची दही हांडी, 10 थर लगाने पर 21 लाख का इनामगुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका, विधानसभा चुनाव से पहले भरूच के सात नेताओं ने पार्टी से दिया इस्तीफा'विदेश में लड़कियां कभी भी ब्वॉयफ्रेंड बदल लेती हैं, बिहार के CM की भी यही स्थिति', कैलाश विजयवर्गीय के बयान पर मचा घमासानENG vs SA:जेम्स एंडरसन ने तोड़ा 110 साल पुराना रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले तेज गेंदबाज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.