लॉकडाउन में सक्रिए हुए शराब कोचिए, पानी पाऊच का रूप देकर बिक्री के लिए पहुंच रहे गांव-गांव, विभाग को खबर तक नहीं

Illegal liquor: एक तरफ कोरोना को लेकर सन्नाटा पसरा है। कफ्र्यू जैसा माहौल है, वहीं शराब कोचिए सक्रिय नजर आ रहे हैं। पॉलीथीन में पैक कर पानी पाऊच की तरह बनाकर उसे खपाने में लगे हुए हैं।

By: Vasudev Yadav

Published: 29 Mar 2020, 05:28 PM IST

अकलतरा. कोरोना वायरस के चलते पूरे राज्य में देशी, अंग्रेजी शराब दुकानें बंद है, इसका फायदा गांव-गांव में महुआ शराब बनाने वाले लोग उठा रहे हैं। एक ओर पूरे शहर और में लॉकडाउन है, घर से बाहर निकलना लोगों का मना है, वहीं शराब कोचिए अवैध शराब तैयार कर उसे प्लास्टिक के पाऊच में भर रहे हैं। कोरोना लिखकर सजा रहे हैं, फिर झोले में भरकर बिक्री के लिए गांव-गांव पहुंच रहे हैं। लोगों को कोरोना से बचने रामबाण बता रहे हैं। इतना होने के बाद भी आबकारी विभाग को कुछ नहीं मालूम। छापेमारी करना भी मुनासिब नहीं समझ रहे हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि सुबह, शाम अवैध शराब बेचने वाले लोगों के घर के सामने भीड़ सा माहौल बना रहता है। इसके साथ ही देशी अंग्रेजी शराब अवैध तरीके से स्टॉक करके रखे हैं और मनमाने कीमतों में बिक्री कर रहे हैं। कोटमीसोनार से ग्रामीण क्षेत्रों महुआ शराब की सप्लाई होने की खबर मिली है।

Read More: शहर में लॉकडाउन, इसके बाद भी धड़ल्ले से कर रहे थे बालू, गिट्टी की सप्लाई, तीन हाइवा चालक गिरफ्तार

इन गांवों में पिपरसत्ती पोड़ी दल्हा, फरहाद, अर्जुनी, रसेड़ा, करुमहू, अमेरी सहित अन्य गांवों में महुआ शराब की सप्लाई की जा रही है। कोटमी सोनार के इंदिरा उद्यान के पीछे, कर्रानाला बांध, पुलिया के पास, नरवाखड़ अमेरी, खैया तलाब के पास, स्टेशन मोहल्ला, सबरिया डेरा, केंवट पारा बस्ती में हो रही है। ऐसा नहीं है कि इस बात की जानकारी अबकारी और पुलिस को नही है, पर कार्रवाई करने से कतरा रहे हैं। आबकारी उडऩदस्ता जब भी छापेमारी करती है। उसे जरूर केस मिल जाता है। वहीं स्थानीय अबकारी व पुलिस को केस नहीं मिलता।
Read More: दुकान बंद करने की दी समझाइश तो आरक्षक पर भड़क उठा विधायक पति, पुलिस के साथ की धक्का-मुक्की, मामला दर्ज

पैकिंग करने की मशीनें भी उपलब्ध
सूत्रों ने बताया कि कोचिए महुआ शराब को पैंकिग करने का मशीन भी रखे हैं। जिससे पानी पाउच की तरह शराब की पेकिंग की जाती है और बिक्री की जाती है। आबकारी उडऩदस्ता टीम ने कई बार ऐसे लोगों को पकड़कर जेल की सलाखों में भी भेज चुकी है, लेकिन जेल से छूटने के बाद वे फिर इस तरह का कारोबार करना शुरू कर देते हैं।

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned