दिन हो या रात, खुद की जान की परवाह किए बिना 24 घंटे सेवा देने को तैयार इन डॉक्टरों की टीम को सेल्यूट

Coronavirus: टीम में 17 कर्मचारी, संदिग्ध मरीजों की जांच करने से लेकर ब्लड सैंपलिंग लेना व आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट करना किसी चुनौती से कम नहीं

By: Vasudev Yadav

Published: 04 Apr 2020, 07:15 PM IST

जांजगीर-चांपा. दिन हो या रात, 24 घंटे किसी भी वक्त अपनी सेवा देने को तैयार हैं कॉबेक्ट टीम के डॉक्टर व कर्मचारी। कोरोना के संदिग्ध मरीजों की सूचना मिलते ही इन डॉक्टरों की टीम इलाज के लिए एक पैर पर खड़े रहते हैं। खुद को सुरक्षित करते हुए संदिग्ध मरीज की जांच करना व ब्लड की सैंपलिंग लेकर उन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट करना किसी चुनौती से कम नहीं।

बीते कई दिनों से अपनी जान की परवाह किए बिना मरीजों को स्वस्थ रखने की चिंता उनके जेहन में गूंजते रहती है। अब तक दो दर्जन मरीजों की जांच कर चुके डॉ. अनिल जगत व उनकी टीम में शामिल 17 कर्मचारियों को सिर्फ यही चिंता रहती है कि कहीं हमारे जिले में कोई कोरोना से संक्रमित न हो। डॉक्टरों की टीम अपनी जान की परवाह किए बिना कोरोना को मात देने दिन-रात काम कर रहे हैं।

Read More: जानें एसपी, एएसपी व कोतवाली टीआई ने घर के एक कमरे में खुद को क्यों किया आइसोलेट
आपको बता दें कि जांजगीर-चांपा जिले के कॉबेक्ट टीम में डॉ. अनिल जगत (एमडी मेडीसिन), डॉ. अश्वनी राठौर (पैलोलॉजिस्ट) एवं प्रकाश कश्यप (फार्मासिस्ट) की टीम लगातार पिछले कई दिनों से दिन रात काम कर रही है। इनकी जुझारूपन को देखकर जिले के लोग सेल्यूट कर रहे हैं। आपको बता दें कि, जिले में अब तक कोरोना ने दस्तक नहीं दी है। हालांकि अब तक 22 से अधिक लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है। जिसमें एक भी पॉजिटिव केस नहीं आए हैं।

कर रहे हैं चुनौती का सामना
डॉ. अनिल जगत ने बताया कि जब से हमें कोरोना का पता चला है तब से हम मन में गांठ बांध लिए हैं कि चुनौतियों का सामना करना है। यह सोचकर लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जैसे फिल्मों में हीरो का रोल होता है वही हमारा रोल है। हम लोगों का मेन रोल हैं तो वहीं किरदार निभाते हुए काम कर रहे हैं। जैसे ही हमारे पास सूचना मिलती है हम उनकी जांच में जुट जाते हैं। जब तक उनकी रिपोर्ट निगेटिव नहीं मिल जाती तब तक हमें चैन नहीं मिलता। शुक्र है अब तक जिले में कोई पॉजिटिव केस नहीं मिले हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर हर कोई डर रहा है, चुनौती से भरे इस वक्त में ज्यादा से ज्यादा मरीजों को हम बेहतर इलाज दे सकें, इस उद्देश्य के साथ हम लगातार काम कर रहे हैं।

सुरक्षा के उपाय करा रहे उपलब्ध
जिले के कॉबेक्ट टीम में शामिल 17 ऐसे कर्मचारी हैं जो एक सैनिक की तरह काम कर रहे हैं। संकट के इस घड़ी में टीम के कर्मचारी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। जिले में हर रोज पांच से छह लोगों को संक्रमण होने की सूचना मिलती है। उनके लिए पर्शनल प्रोटेक्शन किट उपलब्ध कराया जाता है। हर वक्त डॉक्टरों की टीम तैनात रहती है।

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned