scriptSharad Purnima will be celebrated tomorrow with eight rare yogas | आठ दुर्लभ योग के साथ मनाया जाएगा शरद पूर्णिमा कल | Patrika News

आठ दुर्लभ योग के साथ मनाया जाएगा शरद पूर्णिमा कल

locationजांजगीर चंपाPublished: Oct 07, 2022 09:21:02 pm

Submitted by:

Ashish Tiwari

शरद पूर्णिमा का पर्व इस बार ९ अक्टूबर के दिन आठ दुर्लभ शुभ योगों के साथ मनाया जाएगा। इस दिन पूर्णिमा व्रत शरद क्षीर पान करने के लिए साथ-साथ लक्ष्मी, इंद्र पूजा और कोजागिरी व्रत भी किया जाएगा। शरद पूर्णिमा के दिन बन रहे आठ दुर्लभ योग खरीददारी और निवेश के सर्वोत्तम हैं।

आठ दुर्लभ योग के साथ मनाया जाएगा शरद पूर्णिमा कल
sadak
शरद पूर्णिमा का पर्व इस बार ९ अक्टूबर के दिन आठ दुर्लभ शुभ योगों के साथ मनाया जाएगा। इस दिन पूर्णिमा व्रत शरद क्षीर पान करने के लिए साथ-साथ लक्ष्मी, इंद्र पूजा और कोजागिरी व्रत भी किया जाएगा। शरद पूर्णिमा के दिन बन रहे आठ दुर्लभ योग खरीददारी और निवेश के सर्वोत्तम हैं। पं. हरनारायण तिवारी के अनुसार रविवार के दिन पूर्णिमा तिथि पूरे दिनमान को व्याप्त करते हुए लगभग पूरे रात्रि मान को व्याप्त हो रही है। इसलिए शरद पूर्णिमा का पर्व ९ अक्टूबर को ही मनाया जाएगा। शरद पूर्णिमा पर बुध और शुक्र की युति से लक्ष्मीनारायण योग, सूर्य और बुध की युति से बुधादित्य योग, चंद्र और गुरू की यति से गजकेसरी योग बन रहे हैं। साथ ही शनि का राशि मकर में भ्रमण २७ साल बाद हो रहा है। गुरू अपनी स्व राशि मीन में ११ साल बाद आ रहे हैं। गुरु और शनि का स्व राशियों में होने का संयोग अधिक कालांतर के बाद ही हो पाता है। इस दिन कोई भी शुभ कार्य करना जैसे जमीन-जायदाद की खरीददारी, वाहन जैसे सोने-चांदी के आभूषण इलेक्ट्रिक सामान खरीदना बेहद शुभ रहेगा। इसके अलावा इस दिन नया व्यापार शुरू करना ही लाभदायक है। मान्यता के अनुसार शरद पूर्णिमा की रात चंद्रमा अपनी किरणों से अमृत गिराते हैं।
शरद पूर्णिमा पर क्या करें
शरद पूर्णिमा की रात को घर की छत पर खीर बनाक रखे। शरद पूर्णिमा के दिन चांद की किरणें खीर में पडऩे से यह औषधि के रूप में लाभ पहुंचाती है। रात को कुछ देर चांद की चांदनी में बैठना चाहिए। रात को हनुमान जी की पूजा और उनके सामने चौमुखा दीपक जलाएं। मां लक्ष्मी, भगवान शिव की पूजन करना चाहिए। मान्यता है कि इस दिन मां लक्ष्मी से जुड़े मंत्रों का जाप करने इनकी कृपा मिलती है।
----------
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.