गरीबों का राशन मार रहे दुकान संचालक, जांच में भी बरती जाती है कोताही

गरीबों को राशन देने के नाम पर दुकान संचालक गरीबों का हक मारने जरा सा भी नहीं कर रहे गुरेज

By: Shiv Singh

Published: 18 Aug 2017, 12:55 PM IST

जांजगीर-नवागढ़. जिले में इन दिनों राशन वितरण में गड़बड़ी खेल जोरों से चल रहा है गरीबों को राशन देने के नाम पर दुकान संचालक गरीबों का हक मारने जरा सा भी गुरेज नहीं कर रहे हैं। गरीब हितग्राहियों को सस्ता राशन देने के लिए सरकार विभिन्न प्रकार की योजानाएं संचालित कर रही है मगर गरीब इन योजनाओं के लाभ से कोसों दूर हैं या फिर उनके नाम पर योजनाओं का जवाबदार बंदरबांट करके मुनाफा कमा रहे हैं। ऐसा ही आरोप नवागढ़ विकासखंड के ग्राम कुरियारी के शासकीय उचित मूल्य दुकान के संचालक पर लगा है आवेदक ने राशन वितरण में गड़बड़ी की शिकायत कलेक्टर से करके उचित कार्रवाई की मांग की है। शिकायत कर्ताओं का कहना है कि उन्होंने सहायक खाद्य अधिकारी से डेढ़ माह पहले भी शिकायत की थी, लेकिन उन्होंने दुकान संचालक से सांठ-गांठ कर जांच को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। मजबूरी में उन्होंने इसकी शिकायत कलेक्टर से करके जांज की मांग की है।

इनके राशन में हेर-फेर का आरोप - आबंटन सूची के आधार पर राशन कार्ड धारी सुकबाई पति धरम के परिवार के सदस्य दुलेश की मृत्यु दो साल पूर्व हुई है, लेकिन उसके नाम का राशन उठ रहा है। चमारीन बाई कश्यप के नाम पर ३५ किलो चांवल का आबंटन होना है, लेकिन उसे २८ किलो ही दिया जा रहा है। इसी तरह सुकमत बाई के नाम पर भी ३५ किलो चांवल का आबंटन आ रहा है जबकि उसे भी २८ किलो चांवल ही दिया जाता है। शिकायतकर्ताओं के मुताबिक इनके राशन में हेर-फेर कर दुकान संचालक मुनाफा कमा रहा है। उन्होंने मामले में जांच की मांग किया है।
संचालक ने आरोप से किया इंकार- शासकीय उचित मूल्य की दुकान के संचालक किशोर कश्यप ने पंच टीकाराम कश्यप, रोशन कश्यप सहित अन्य वार्डवासियों द्वारा कलेक्टर से की गई शिकायत को झूठा बताया है। उसका कहना है कि उसके खिलाफ लगाए गए सभी आरोप गलत हैं।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned