Video :- एसपी ने लिया संज्ञान तब जागी कोतवाली पुलिस

Vasudev Yadav

Publish: Apr, 17 2019 07:09:48 PM (IST)

Janjgir Champa, Janjgir Champa, Chhattisgarh, India

जांजगीर-चांपा. कोतवाली थाना अंतर्गत आप चाहे कुछ भी क्राइम कर लो। आप पर किसी तरह का कोई कार्रवाई नहीं होने वाला है। क्योंकि शहर के कोतवाली थाना प्रभारी सहित पूरा स्टाफ गंभीर निंद्रा में है। शहर में न तो तीन सवारी वाहनों, बिना हेलमेट के बाइक चलाना, बिना सालेंसर के कानफोडू तेज आवाज में बाइक से फर्राटे मारना, मालवाहक वाहन में सवारी ढोना, रात १० बजे के बाद कानफोडू आवाज में डीजे चलाना यह सब जिला मुख्यालय में आम बात हो गई है। ऐसे वाहन हर रोज थाना के सामने से भी गुजर रहे, इस पर कार्रवाई करना तो दूर उससे पूछताछ करने का भी फुर्सत कोतवाली पुलिस को नहीं है। क्योकि कोतवाली पुलिस तो केवल टाइमपास करते हुए अपना ड्यूटी का खानापूर्ति कर रहे हंै। जबकि अभी वर्तमान में आचार संहिता लगा हुआ है। फिर भी पुलिस की चुस्ती नजर नहीं आ रही है। ऐसा ही वाक्या मंगलवार की रात को देखने को मिली। मंगलवार की रात १०.१५ बजे मेट्रो टाकीज के पास तेज आवाज में डीजे पिछले आधा घंटा से बज रहा था। इस बीच आसपास के लोगों ने डायल ११२ को फोन किया। तत्काल ११२ की रायपुर द्वारा कोतवाली थाना से संपर्क किया गया। लेकिन उसके बाद भी कोतवाली थाना से कोई स्टाफ मौके पर नहीं पहुंचा। आसपास के लोगों ने फिर दूबारा ११२ को लगाया गया तो बताया गया कि कोतवाली थाना को सूचना दी गई है। नंबर आपको को दिया जा रहा है चाहे तो आप बात कर सकते हैं। भीड़ में किसी ने एएसपी मधुलिका सिंह को फोन पर इसकी सूचना दी। एएसपी ने तत्काल एसडीओपी जितेन्द्र चंद्राकर को निर्देश दिया। एसडीओपी ने कोतवाली थाना को डीजे पर कार्रवाई करने कहा। लेकिन यह तो कोतवाली थाना स्टाफ है, नींद से कहां जाएंगे। क्योकि यहां तो पूरा स्टाफ सोया हुआ है। एसडीओपी के आदेश के बाद भी कोई स्टाफ नहीं पहुंचा। उसके बाद एसपी पारूल माथुर को १०.४७ बजे फोन लगाया गया। इसके बाद कोतवाली पुलिस नींद से जागी और नियम विरूद्ध डीजे चला रहे संचालक को अपने कब्जे में लिया और डीजे संचालक के खिलाफ कोलाहल अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई।

कार्रवाई से रोकने जोर आजमाइश करते रहे कांग्रेस नेता
रात १०.५० बजे के बाद डीजे के खिलाफ कार्रवाई होने पर डीजे संचालक का नेतागिरी भी नहीं चला। उन्होंने कांग्रेस के एक बड़े नेता को फोन कर मौके पर बुलाया और कार्रवाई न हो इसके लिए पुलिस पर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही थी। वे फोन पर पुलिस अधिकारियों से संपर्क करते हुए मामले को रफा दफा करने का भरपूर प्रयास किया। लेकिन उनकी भी एक न चली। आखिरकार पुलिस ने डीजे संचालक के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ी।

रात १० बजे के डीजे है प्रतिबंध
रात १० बजे के बाद डीजे पर प्रतिबंध है। अगर एसडीएम कार्यालय से इसकी इजाजत भी लिए है तो वह १० बजे तक ही रहेगा। सुप्रीम कोर्ट का सख्त आदेश है कि १० बजे के बाद डीजे नहीं बजा सकते। इसके पहले भी बजाना है तो आपको ८० डेसीबल से कम आवाज में बजाना है। लेकिन यहां तो उससे ज्यादा आवाज में डीजे की धुन हमेशा बजती रहती है।

रात १० बजे के बाद डीजे तो करें शिकायत
रात १० बजे के बाद अगर डीजे बजाकर कोई आपके आसपास हल्ला कर रहा है तो इसकी शिकायत स्थानीय थाने में या पुलिस कंट्रोल रूम या ११२ में शिकायत कर सकते है। एएसपी ने बताया कि रात १० बजे के बाद डीजे बजाने पर कार्रवाई को लेकर सुप्रीम कोर्ट का सख्त आदेश है। यदि होटल संचालक या अन्य कोई संस्थान उल्लंघन कर रहा है तो इसकी शिकायत स्थानीय पुलिस से कर सकते है।

शहर में कोतवाली पुलिस है गंभीर निंद्रा में, पूरा स्टाफ का बस टाइमपास के साथ हो रही ड्यूटी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned