script ठगों का गढ़ : 11 महीने में 67 मामले ने साढ़े 5 करोड़ रुपए का लगाया चूना | Stronghold of thugs: 67 cases in 11 months, fraud worth Rs 5.5 crore | Patrika News

ठगों का गढ़ : 11 महीने में 67 मामले ने साढ़े 5 करोड़ रुपए का लगाया चूना

locationजांजगीर चंपाPublished: Nov 24, 2023 09:02:11 pm

जिले में ठगी करने वालों का राज है। अधिकतर बेरोजगार वर्ग के लोग नौकरी लगाने के झांसे में आकर फ्राड किस्म के लोगों के चक्कर में फंस जाते हैं और ठगी का शिकार हो जाते है ।

ठगों का गढ़ : 11 महीने में 67 मामले ने साढ़े 5 करोड़ रुपए का लगाया चूना
ठगों का गढ़ : 11 महीने में 67 मामले ने साढ़े 5 करोड़ रुपए का लगाया चूना
बीते 11 महीने के आंकड़ों पर गौर करें तो ऐसे 67 मामले सामने आए जिसमें संपत्ती संबंधित मामलों में फंसकर हजार दो हजार क्या करोंड़ों रुपए लुटा बैठे। अब ऐसे लोग पुलिस का दरवाजा खटखटा रहे हैं, लेकिन पुलिस भी क्या करे। वह भी बेबस है। क्योंकि किसी के पाकेट से रकम वापसी कराना कठिन क्या बल्कि नामुमकिन है। पुलिस ऐसे लोगों को धारा 420 के तहत गिरफ्तार कर जेल के चार दीवारी में डाल सकती है। कुछ आरोपी सजा की डर से पीडि़तों का कुछ रकम वापस करते हैं। लेकिन बहुत से आरोपी लाखों रुपए ठगने के बाद पैसे हजम कर चुके होते हैं जिन पैसों की वापसी संभव नहीं होता। पत्रिका ने बीते 11 माह में संपत्ती संबंधित चारसौबीसी की पड़ताल की तो चौकाने वाला मामला सामने आया। बीते 11 महीने में 67 ऐसे मामले दर्ज किए गए हैं जिसमें 5 करोड़ 19 लाख 57 हजार रुपए की ठगी का शिकार हुए हैं।

सबसे अधिक ऑनलाइन ठगी


जिले में सबसे अधिक ऑनलाइन ठगी के शिकार हो रहे हैं। अज्ञात नंबर से फोन आता है कि आपकी लाटरी लगी है। आपका अकाउंट नंबर दें आपके खाते में रकम ठाल दी जाएगी। लोग ऐसे ठगों के जाल में फंस जाते हैं। फिर जब उनका अकाउंट खाली हो जाता है तो पुलिस का दरवाजा खटखटाते हैं। पुलिस को भी रिपोर्ट लिखने की मजबूरी होती है। रिपोर्ट लिखने के बाद इसकी जांच करना मजबूरी बन जाती है।

सबसे अधिक कोतवाली थाने में एफआईआर


जांजगीर सिटी कोतवाली में सबसे अधिक ठगी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि पढ़े लिखे लोग ही ठगी का शिकार हो जाते हैं। पलक झपकते अधिक रकम के लालच में लोग अपना अकाउंट दे बैठते हैं फिर वही लोग ठगे जाने के बाद रिपोर्ट दर्ज कराने थानों का चक्कर काटते हैं। सिटी कोतवाली में ऐसे अधिक मामले सामने आए हैं। जिसमें धारा 420 के अपराधों की पेंडेंसी भी सिटी कोतवाली में अधिक है।

हर रोज एसपी से तीन फरियाद


एसपी आफिस में हर रोज 10 से 15 शिकायतें सुनी जाती है। जिसमें कम से कम तीन फरियाद ऐसी रहती है जिसमें फरियादी ठगी का शिकार होता है। कोई नौकरी लगाने के नाम पर लाखों की ठगी का शिकार होता है तो कोई व्यवसाय के नाम से ठगी का शिकार होता है। फरियादी पहले अपने निकट के थाने में रिपोर्ट लिखाने जाता है, जब उसकी सुनी नहीं जाती तो एसपी आफिस फरियाद लेकर पहुंचता है। इसके बाद उसकी रिपोर्ट दर्ज हो जाती है। बाद में ऐसे अपराध दर्ज होने के बाद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दीगर राज्यों की खान छानती है।

जिले में ठगी करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। हर रोज ऐसी तीन शिकायतें मिलती है। जिसमें लोग ठगी की रिपोर्ट लिखाने आते हैं। लोग ऐसे ठगों से सावधान रहें सतर्क रहें।
-विजय अग्रवाल, एसपी

ट्रेंडिंग वीडियो