scriptThe applicant is the biggest brand ambassador for the police- SP Vijay | प्रार्थी ही पुलिस के लिए सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर- एसपी विजय अग्रवाल | Patrika News

प्रार्थी ही पुलिस के लिए सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर- एसपी विजय अग्रवाल

पुलिस के लिए प्रार्थी ही सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर होता है। यदि प्रत्येक थाना प्रभारी प्रार्थी की बातें गंभीरता से सुने, उसके साथ सिधाई से पेश आए ताकि उसे पूरी तरह से संतुष्टि मिले। उसके मन में यह विचार आए कि पुलिस ने मेरी बातें गंभीरता से सुनी है। वह अपने आसपड़ोस के चार लोंगो को बताएगा जिससे हमारी विश्वसनियता बढ़ेगी। फरियादियों की सुने और उसकी परिस्थितियों को भांपकर सही कदम उठाए वही एक सच्चा थानेदार हो सकता है।

जांजगीर चंपा

Published: May 21, 2022 09:38:47 pm

जांजगीर-चांपा। यह बातें प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में नव पदस्थ एसपी विजय अग्रवाल ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में मीडिया से बात साझा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि अपराध को कम करने के लिए केवल पुलिस ही जिम्मेदार नहीं है। उसके पास जादू की झड़ी भी नहीं है। इसके लिए हम सभी को जागरूक होना होगा। पहले अपने ही लोगों को अपराध के दलदल से निकालना होगा। थाने में ही सभी समस्याओं का हल नहीं निकल सकता। दुनिया के साथ कदम में कदम मिलाकर चलना होगा। तभी हम आगे बढ़ सकते हैं। सड़क दुर्घटना को उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस की चालानी कार्रवाई से सड़क दुर्घटनाओं में कमी नहीं आएगी। इसके लिए हमें ही जागरूक होना होगा। वाहन चलाते वक्त हेलमेट पहनना होगा। कार में सीट बेल्ट का इस्तेमाल करना होगा। समाजिक बुराईयों को कम करने के लिए समाज कंटकों को आगे आना होगा। समाजिक बैठकें कर समाज को सुधारा जा सकता है। एसपी विजय अग्रवाल ने अपने तीन कार्यकाल जांजगीर-चांपा जिले में ही बिताते हुए अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि इस जिले में औसतन अन्य जिलों की अपेक्षा हर तरह के बड़े अपराध होते हैं। जो इस जिले में पुलिसिंग कर ली है वह कहीं भी किसी भी जिले में आसानी से पुलिसिंग कर सकता है।
पीओ बनना चाहते थे पर बन गए डीएसपी
मूलत: चंदखुरी के पास के छोटे से गांव नगपुरा में जन्मे एसपी विजय अग्रवाल ने अपनी पर्शनल लाइफ के बारे में साझा करते हुए कहा कि वे एमएससी गणित में पढ़ाई करने के बाद बैंक में पीओ (प्रोबेशनरी अफसर) बनना चाहते थे। लेकिन परिजनों को यह जॉब रास नहीं आया। इसके बाद पीएससी की पढ़ाई के लिए भोपाल गए और पीएससी की परीक्षा दिलाई। जिसमें टॉपर रहे। इतना ही नहीं इंटरव्यू में उन्हें १०० में १२० नंबर मिला और डिप्टी कलेक्टर व डीएसपी का विकल्प चुनने कहा। जिसमें उन्होंने डीएसपी पद चुना। १९९८ में डीएसपी बने। ९ साल बाद यानी २००७ में एडिशनल एसपी बने। इसके बाद उनकी कार्यकुशलता को देखते हुए वर्ष २०१८ में आईपीएस अवार्ड मिल गया। आईपीएस बनने के बाद उन्हें १९-२० में बटालियन में कमांडेंट का पद मिला। फिर २०२१ में जशपुर एसपी बने। इसके बाद १ मई २०२२ में जांजगीर-चांपा एसपी बनकर इस जिले में आए।
प्रार्थी ही पुलिस के लिए सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर- एसपी विजय अग्रवाल
प्रार्थी ही पुलिस के लिए सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर- एसपी विजय अग्रवाल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra : फ्लोर टेस्ट से गायब क्यों रहे MVA के 11 MLAs, कारण जानकर Congress की उड़ी नींदCBSE Board Result 2022: सीबीएसई 10वीं-12वीं का परिणाम कब करेगा जारी, cbseresults.nic.in पर देखें लेटेस्ट अपडेटफिर गोलीबारी से दहला अमेरिका: फ्रीडम डे परेड में फायरिंग से 6 लोगों की मौत, 57 घायलभूंकप के झटकों से थर्राया अंडमान निकोबार, रिक्टर स्कैल पर 5 मापी गई तीव्रताEknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद कार में पिस्तौल लहराते हुए जश्न मनाते दिखे हत्यारे, वायरल हुआ वीडियोबीजेपी नेता कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में लिखा - 'हम तुम्हें जीने नहीं देंगे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.