उठ रहे सवाल आखिर मौके पर जेसीबी को देखने के बाद भी पुलिस क्यों बन गई अनजान?

उठ रहे सवाल आखिर मौके पर जेसीबी को देखने के बाद भी पुलिस क्यों बन गई अनजान?

Shiv Singh | Publish: Jul, 14 2018 12:33:08 PM (IST) Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India

इससे दुर्घटना हुई और दो की मौत हो गई

शिवरीनारायण. तनौद में 11 जुलाई को हुई सड़क दुर्घटना में दो बाइक सवारों की मौत के बाद अब शिवरीनारायण पुलिस की कार्यवाही को लेकर कई सुलगते सवाल खड़े हो रहे हैं।

इस दुर्घटना को लेकर जहां पुलिस ने यह प्रेस रिलीज जारी की है वाहन चालक सहित सवार शराब के नशे में थे और तेज रफ्तार बाइक का संतुलन बिगडऩे से दुर्घटना हुई है। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बाइक सवार तेज रफ्तार में आ तो रहे थे, लेकिन उसी दौरान भीम साहू की जेसीबी सड़क किनारे स्थित एक मकान में मुरुम फिलिंग करते हुए सड़क पर आ गया और बाइक उसके डोम से टकरा गई। इससे दुर्घटना हुई और दो की मौत हो गई।

Read more : मृत युवक के परिजनों ने प्रेमिका के रिश्तेदारों पर लगाया हत्या का आरोप


इस सड़क दुर्घटना को लेकर की गई कार्रवाई में भले ही शिवरीनारायण पुलिस कितना भी सही कार्रवाई का दंभ भरे, लेकिन उन लोगों का मुह कैसे बंद कराएगी जो जेसीबी पर कार्रवाई न होने से खुल रहे हैं। शिवरीनारायण थाना प्रभारी इस बात को मान भी रहें हैं कि दुर्घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर जेसीबी खड़ी थी,

तो फिर वह यह दावा कैसे कर सकते हैं कि जेसीबी से बाइक नहीं टकराई है। थाना प्रभारी का कहना है कि उन्होंने खुद लोगों के कथन के आधार पर यह यह मामला दर्ज किया है तो फिर पत्रिका की टीम के सामने लोगों ने दबी जुबान में दूसरा सच क्यों बताया। लोगों का कहना है कि पुलिस को जेसीबी चालक के खिलाफ भी जांच करनी थी और यदि वह गलती में नहीं पाया जाता तो उसे छोड़ती, लेकिन अपने मन से बिना जांच के जेसीबी को छोड़ देना कई आशंकाओं को जन्म देता है।


घायल के बयान से धुलेगा खाकी का दाग
इस मामले में पुलिस की साख पर जो दाग लगते दिखाई दे रहे हैं वह अब दुर्घटनाग्रस्त बाइक पर सवार तीसरे युवक लालाभाजी का बयान ही धुल पाएगा। बाइक में सवार दो लोगों की तो मौके पर ही मौत हो गई, लेकिन तीसरा युवक अभी भी बिलासपुर स्थित सिम्स हॉस्पिटल में जिंगदी और मौत से जंग लड़ रहा है। ठीक होने पर उसका बयान होगा।

Ad Block is Banned