कृषि वैज्ञानिक एमपी के सीएम को भेंट करेंगे जैकेट व गमछा, क्या खास है इस गमछे में जानने के लिए बस एक क्लिक...

- बहेराडीह क्षेत्र के अनुसंधान टीम के सदस्यों में खासा उत्साह है।

By: Shiv Singh

Published: 16 May 2018, 12:40 PM IST

जांजगीर-चांपा. केला के तने से निकाले गए रेशे से बने कपड़ा व उससे बने गमछा व जैकेट को भोपाल में आयोजित एक कार्यक्रम में बुधवार को स्थानीय कृषि वैज्ञानिक मध्यप्रदेश के सीएम व केंद्रीय मंत्री को भेंट करेंगे। इससे बहेराडीह क्षेत्र के अनुसंधान टीम के सदस्यों में खासा उत्साह है।

मनुष्य के जीवन में जन्म से मृत्यु पर्यन्त काम आने वाला केला का पेड़ व केले के तने से रेशे निकालकर जिले के बहेराडीह, कोसमंदा, सिवनी के 15 सदस्यीय केला अनुसंधान टीम के कृषकों ने गमछा, जैकेट व साड़ी का निर्माण यू ट्यूब के मदद से सफलतापूर्वक तैयार कर लिया है। केला के रेशा से तैयार गमछा व जैकेट 16 मई को भोपाल में केंद्रीय मंत्री समेत सीएम शिवराज सिंह चौहान को कृषि विज्ञान केन्द्र के समन्वयक केडी महंत द्वारा अनुसंधान टीम की ओर से भेंट करेंगे।

Read More : जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर में अनियमितताओं की जांच के लिए जांजगीर आएगी प्रदेश स्तर की टीम, पढ़ें कब पहुंच रही टीम
इससे पहले 17 मार्च को दिल्ली में राष्ट्रीय कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी को कृषकों की ओर से वे भेंट कर चुके हैं। अब प्रदेश स्तर का केला अनुसंधान केन्द्र की स्थापना चांपा से लगे कृषि विज्ञान केंद्र के गोद ग्राम बहेराडीह में प्रशासन के सहयोग से शीघ्र होगी।

कृषि विभाग की ओर से इसके लिए टीम को प्रशिक्षण, भ्रमण मशीन भी दिए जाने की पहल की जा रही है। वहीं केले के तने से निकले रेशे से तैयार कपड़े को देखने बहेराडीह पहुंचे कैनेडा देश के युवा वैज्ञानिक पैट्रिक कलविन ने बड़े मात्रा में केला कपड़े की मांग की है। वहीं कृषि विभाग केवीके एग्रीकलचर कालेज के मार्गदर्शन पर इसे आन लाइन बिक्री करने की तैयारी की जा रही है।

केवीके के जिला समन्वयक महंत ने कहा कि भोपाल में आयोजित कृषि वैज्ञानिकों के राष्ट्रीय कार्यशाला में जिले के बहेराडीह, कोसमंदा सिवनी के कृषकों की 15 सदस्यीय टीम मिलकर केले के रेशे से तैयार कपड़े के जैकेट और गमछा का 16 मई को समापन समारोह के दौरान यहां के सीएम शिवराज सिंह चौहान को भेंट करेंगे।

इससे पूर्व 14 मई को केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को केला अनुसंधान टीम के 15 सदस्यों की ओर से भेंट कर चुके है। महंत ने कहा कि इसी तरह 17 मार्च को दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय कृषि मेला में आयोजित स्टाल तथा सभागार में पीएम नरेंद्र मोदी का भी इसी कपड़े से स्वागत किया गया है। इस दौरान पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के ऐसे नवाचारी कृषक अनुसंधान टीम को हरसंभव मदद शासन प्रशासन की ओर से करने का आश्वासन दिया है।

उप संचालक कृषि ललित मोहन भगत ने कहा कि 27 मई को सीएम डॉ. रमन सिंह का जिले में आगमन हो रहा है। इस दौरान यहां के किसानों द्वारा केले के पेड़ से तैयार कपड़ा जैकेट और गमछा भेंट करने की योजना बनाई गई है और कृषि विभाग के माध्यम से कृषि विज्ञान केंद्र के गोद ग्राम बहेराडीह में प्रदेश स्तरीय केला अनुसंधान केन्द्र खोलने का प्रस्ताव रखेंगे। कृषि उप संचालक भगत ने कहा कि इस व्यावसाय को बढ़ाने कृषि विभाग द्वारा कलेक्टर के मार्गदर्शन में हर संभव मदद किया जाएगा। टीम के सदस्यों ने भी इस सफलता पर उत्साह जताया है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned