सावधान : चुनाव से पहले जमा कराना होगा 561 शस्त्र

Body Election : कलेक्टोरेट से निकला फरमान, एसपी आफिस से थानों में भेजे गए आदेश

जांजगीर-चांपा. नगरीय निकाय चुनाव का आगाज हो चुका है। अगले माह को होने वाले चुनाव के लिए सोमवार को आचार संहिता भी लग चुका है। वहीं चुनाव आयोग ने चुनाव की तैयारी भी शुरू कर दी है। ऐसे में पुलिस ने भी हरकतें तेज कर दी है। चुनाव के दौरान पुलिस को शस्त्र जमा कराना होता है, ताकि शस्त्रधारी चुनाव में किसी बड़ी वारदात को अंजाम न दे सकें। चुनाव के मद्देनजर पुलिस शस्त्रधारियों को शस्त्र जमा करने का अल्टीमेटम देना शुरू कर दिया है। जिले में 561 लोग शस्त्र के शौकीन हैं। जिन्हें दिसंबर माह तक बिना शस्त्र के रहना होगा।
जिले में शस्त्रधारियों की संख्या काफी अधिक है। आत्मरक्षा कहें या शौंकिया तौर पर वे हथियार तो जरूर रखें हैं। बाकायदा वे इसका लाइसेंस भी बनवा लिए हैं। चुनाव के दौरान उन्हें शस्त्र जमा करने का निर्देश जारी किया जाएगा। चुनाव को लेकर लोकशांति की सुरक्षा के साथ ही जनसामान्य की सुरक्षा के लिए जिला सीमा क्षेत्र में आग्नेय शस्त्र लाइसेंस धारियों से अस्त्र शस्त्र जमा करने के निर्देश दिए जाते हैं। सभी इलाइसेंस धारियों को अपने क्षेत्र के नजदीकी पुलिस स्टेशन में अस्त्र शस्त्र जमा करने संबंधित आदेश दिया जाता है। यह आदेश जिले से बाहर रहने वाले जो यहां आकर निवासरत हैं उनके खिलाफ भी यह आदेश लागू होगा। चुनाव के दौरान रसूखदार ऐसे शस्त्र का बेजा उपयोग कर सकते हैं। चुनाव के दौरान अपने क्षेत्र में भय एवं आतंक का वातावरण निर्मित न हो सके जिसे देखते हुए उनसे शस्त्र जमा कराया जाता है। ताकि चुनाव पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसके लिए प्रशासन अलर्ट हो चुकी है। जिले के जितने भी थाना क्षेत्र हैं उनमें ५६१ शस्त्रधारियों को शस्त्र जमा करने के निर्देश दिए गए हैं।

READ : शादी नहीं हुई तो प्रेमी ने किया नाबलिग प्रेमिका के साथ बलात्कार, अब भुगतेगा सजा
बैंकों के शस्त्र रहेंगे यथावत
बैंकों के शस्त्र यथावत रहेंगे। बैंक में सुरक्षा के दृष्टिकोण से शस्त्र जमा नहीं कराए जाएंगे। बैंकों में ऐसे दर्जनों शस्त्र हैं। जिसे जमा कराना अनिवार्य नहीं बताया गया है। क्यों कि शस्त्र नहीं होने से बैंक में कभी भी अप्रिय घटना घट सकती है। जिले के आधा दर्जन बैंकों में शस्त्र है। जिसे जमा नहीं कराया जाएगा। जिले में सबसे अधिक शस्त्रधारी जांजगीर में है। यहां 87 शस्त्रधारी हैं।

READ : इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री ने लिया संज्ञान, सीएमएचओ से मांगी गई जानकारी
पंचायत चुनाव तक जमा रहेंगे शस्त्र
नगरीय निकाय चुनाव के बाद ग्राम पंचायतों का भी चुनाव होना है। इसके लिए आगामी फरवरी माह तक शस्त्र जमा करना होगा। क्योंकि दिसंबर माह के बाद जनवरी माह में पंचायत चुनाव की बिगुल बज जाएगी। जिसके चलते शस्त्रधारियों को फरवरी माह तक शस्त्र जमा करना होगा। हालांकि बीच में कुछ दिनों के लिए छूट दी जाएगी, लेकिन बार-बार थानों से शस्त्र निकालनते और जमा करने बजाए उसे फरवरी तक जमा करना होगा।

वर्जन
चुनाव के मद्देनजर शस्त्रधारियों से शस्त्र जमा कराना अनिवार्य होता है। चुनाव से पहले हर हाल में शस्त्र जमा कराना है।
मधुलिका सिंह, एएसपी

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned