...जब गांव का शराबी आबकारी आरक्षक की पिटाई कर हो गया रफुचक्कर

देखते ही देखते शराबी व आबकारी आरक्षक भिड़ गए

By: Shiv Singh

Published: 20 Jul 2018, 12:34 PM IST

कोटमीसोनार. पेट्रोलिंग करने गई आबकारी कर्मचारियों व शराबी के बीच कोटमीसोनार के देशी शराब भ_ी में बुधवार की शाम झड़प हो गई। देखते ही देखते शराबी व आबकारी आरक्षक भिड़ गए। दोनों के बीच जमकर झूमाझपटी हुई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक शराबी आरक्षक की पिटाई कर भाग निकला। बताया जा रहा है

कि इस दौरान आबकारी सब इंस्पेक्टर भी मौके पर मौजूद थे। आरक्षक ने मामले की रिपोर्ट अकलतरा थाने में दर्ज कराई है। पुलिस ने शराबी के खिलाफ धारा 151 की कार्रवाई की है।

बुधवार को अकलतरा वृत्त के सब इंस्पेक्टर अपने कर्मचारियों के साथ पेट्रोलिंग के लिए कोटमीसोनार गए थे। उनके साथ तीन चार आबकारी आरक्षक भी थे। आबकारी कर्मचारियों की टीम मौके पर पहुंचे और शराबियों के करीब पहुंच गए। इस दौरान आबकारी आरक्षक लक्ष्मी प्रसाद खांडे व वहां शराब पी रहे मोगली उर्फ संजय यादव से किसी बात को लेकर बहस हो गई।

देखते ही देखते मामला तूल पकड़ लिया। इसी दौरान मोगली उर्फ संजय यादव ने आरक्षक लक्ष्मी प्रसाद खांडे की पिटाई कर भाग निकला और आरक्षक देखता ही रह गया।

इस दौरान आबकारी अधिकारी भी अनजान बने रहे। काफी देर तक मोगली की तलाश की गई, लेकिन वह मिला नहीं। घटना स्थल पर आबकारी अधिकारियों की टीम शराब पी रहे लोगों से आरोपी के बारे में जानकारी जुटाते रहे और काफी देर बाद मामले की रिपोर्ट लिखाने अकलतरा थाना पहुंचे। पुलिस ने आबकारी आरक्षक लक्ष्मी प्रसाद खांडे की रिपोर्ट पर आरोपी मोगली उर्फ संजय यादव के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धारा 151 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

---------------

नियम को ताक पर रख चला रहे चखना दुकान
शिवरीनारायण. शिवरीनारायण थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत तुस्मा में शासन द्वारा संचालित देशी और अंग्रेजी शराब दुकान का संचालन कंजी नाला के पास किया जा रहा है। आहाता नियम के तहत कोई भी शराब दुकान के 100 मीटर के दायरे में किसी भी प्रकार के चखने का दुकान का संचालन पूर्णत: प्रतिबंधित है। इसके बाद भी ग्राम तुस्मा में संचालित शराब दुकान से 50 मीटर की दूरी पर एक युवक द्वारा चखने की दुकान का संचालन किया जा रहा हैं।

ऊक्त दुकान तुस्मा शिवरीनारायण मार्ग से लगा हुआ। इस मार्ग से गुजरने वाले लोगो का सामना चखने की दुकान पर बैठ कर शराब पीने वालों से होता हैं। शराब पीकर लोग मार्ग से आवागमन करने वालो से लड़ाई झगड़े करने से भी बाज नही आते। लोगो का इस मार्ग से गुजरना मुश्किल हो गया है। शराब भट्टी के खुलने से लेकर बन्द होने तक शराब पीने वालों का जमघट चखने की दुकान पर लगा रहता है। तुस्मा शराब भट्टी के आसपास कई अवैध चखने की दुकान का संचालन किया जा रहा है, लेकिन आबकारी विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इसकी परवाह नहीं है।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned