एम्बुलेंस हुआ कबाड़, टीआई ने अपनी कार में खून से लथपथ युवक को पहुंचाया अस्पताल, पर नहीं बची जान

Shiv Singh

Publish: Sep, 16 2017 04:47:07 PM (IST)

Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India
एम्बुलेंस हुआ कबाड़, टीआई ने अपनी कार में खून से लथपथ युवक को पहुंचाया अस्पताल, पर नहीं बची जान

-परिजनों व जोगी कांग्रेस ने हॉस्पिटल में बदहाल एम्बुलेंस सेवा को लेकर किया हंगामा

जांजगीर-पामगढ़. पामगढ़ सीएचसी का विवादों से नाता खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। कभी डॉ. डॉहिरे दंपति की लापरवाही से वहां लोगों की मौत हो रही है, तो कभी किसी और वजह से। हालत यह है कि सीएचसी से गंभीर मरीजों को रेफर करने के लिए एंबुलेंस तक की व्यवस्था नहीं है।
शुक्रवार देर रात एक सड़क दुर्घटना में घायल युवक की मौत हो गई। एंबुलेंस न होने से पामगढ़ टीआई विवेक पाटले ने अपनी निजी कार में खून से लथपथ युवक को बिठाया और अपने हेड कांस्टेबल व अस्पताल के कर्मी के साथ उसे सिम्स भेजा, लेकिन सिम्स में उपचार के दौरान युवक ने दम तोड़ दिया। यदि अस्पताल की एम्बुलेंस सही होती और घायल को पहले उससे सिम्स भेजा जाता तो शायद उसकी जान बच जाती।

पत्रिका ने इस पूरी घटना का लाइव कवरेज किया। थाना प्रभारी विवेक पाटले ने बताया कि बलौदा बाजार जिला अंतर्गत कसडोल थाने के कोट गांव निवासी कृष्ण कुमार कैवतृ पिता ननकी राम शुक्रवार शाम मोटरसाइकिल से अपने गांव गांव कोट जा रहा था। मेंहदी के पास एक ट्रैक्टर चालक ने उसे टक्कर मार दिया। इससे कृष्ण कुमार का दाहिना पैर बुरी तरह कुचल गया और काफी रक्तस्त्राव हुआ। ग्राम सरपंच मेंहदी ने ग्रामीणों की मदद से उसे पामगढ़ सीएचसी पहुंचाया। यहां ड्यूटी में पदस्थ डॉ. केके डाहिरे ने प्राथमिक उपचार कर उसे सिम्स रेफर कर दिया, लेकिन अस्पताल से एंबुलेंस मुहैय्या कराने से मना कर दिया। बीएमओ डॉ. आरएस जोशी ने एंबुलेंस खराब होने की बात कही। जब और कोई गाड़ी घायल को ले जाने के लिए नहीं मिली तो ग्रामीणों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया।

देखते ही देखते वहां जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता पहुंच गए उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दिया। सूनचा मिलने शांति व्यवस्था बनाने के लिए मौके पर पामगढ़ टीआई विवेक पाटले भी पहुंचे। उन्होंने तुरंत अपनी निजी कार में घायल को लिटाया और अपने प्रधान आरक्षक ज्ञानेश्वर पाण्डेय और हॉस्पिटल के कर्मचारी दीपक को सिम्स भेजा। सिम्स में घायल को भर्ती कर उपचार तो शुरू किया गया, लेकिन अधिक ब्लीडिंग से उसकी मौत हो गई। घायल के पास से मिले आधार कार्ड में लिखे पते के आधार पर घायल के परिजनों को भी सूचना देकर पामगढ़ बुलाया गया।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned