तालाब को नहर के पानी से भरने युवाओं ने निकाली बाइक रैली

समस्या को लेकर नगर के लोगों ने मंगलवार को  रैली निकाली

By: Shiv Singh

Published: 22 Aug 2017, 04:07 PM IST

जांजगीर.चांपा। जाज्वल्य देव नगर की शान भीमा तालाब अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है। विकराल समस्या को लेकर नगर के लोगों ने मंगलवार को गर्मजोशी से रैली निकाली और तालाब को नहर के पानी से भरने के लिए अपनी मांगों का ज्ञापन एसडीएम अजय उरांव को ज्ञापन सौंपा है। नगर का सबसे बड़ा भीमा तालाब पर पानी भरने नगरपालिका पानी की तरह पैसे बहा रही, पर अब तक एक बूंद पानी नहीं भरा जा सकता है। अभी नहर पाटो पाट बह रहा है, लेकिन नगरपालिका के अधिकारियों द्वारा नहर से तालाब भरने कोई पहल नहीं कर रही है। भीमा तालाब में पानी भरने तालाब को तीन बार खाली किया जा चुका है। इससे हालत और बद से बदतर हो गई है। भीमा तालाब को खाली करने का टेन्डर दो करोड़ में हुआ है। जिसमें पानी भरने की कोई योजना सामिल नहीं है। जबकी खाली करने के पूर्व भरने की व्यवस्था करनी चाहिए। जिसके लिए पालिका का कोई ध्यान नहीं है।

इस बात को लेकर ऐतिहासिक भीमा तालाब उपेक्षा का शिकार है। समस्या को लेकर नगर के लोगों ने एकजुटता का परिचय दिया और रैली निकाल कर पूर शहर में भ्रमण किया। शहर के युवा नगरपालिका प्रशासन हाय.हायए जल ही जीवन हैए जल है तो कल है सहित कई तरह के के नारे लगाए और पूरे शहर में नगरपालिका के खिलाफ नारेबाजी। रैली एसडीएम कार्यालय के सामने थमी। रैली को लेकर पुलिस ने चाक चौबंद व्यवस्था की थी। कोतवाली टीआई बीएस खूंटिया ने रैली को नियंत्रित करने के लिए रैली के पीछे पीछे बड़ी संख्या में बल लगाया था। ताकि कि किसी तरह की अप्रिय घटना न हो।

कमाई का जरिया बना तालाब- शासन भीमा तालाब को पर्यटक स्थल बनाने के लिए तकरीबन दो करोड़ का प्रस्ताव नगरीय प्रशासन विभाग के पास रखी थी। इसके लिए प्रशासनिक स्वीकृति भी मिल चुकी है। फंड में पैसा भी आ चुका है। लेकिन पालिका की उदासीनता के चलते तालाब अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। विकास कार्य के नाम पर सालाना लाखों खर्च किए जा चुके हैं, लेकिन बदहाली जस की तस बनी हुई है। इसके पैसे से पालिका के अधिकारियों का खर्च चल रहा है।
... तो करेंगे आंदोलन - शहर के युवाओं ने पालिका व प्रशासन को साफ चुनौती दी है कि यदि पालिका इस दिशा में तीन दिन के भीतर कोई कारगर कदम नहीं उठाती है तो चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा। जिसकी समस्त जवाबदेही प्रशासन की होगी। इधर युवाओं की रैली व आक्रोश को देखकर पालिका प्रशासन के होश उड़ गए हैं। पालिका के कर्मचारी अधिकारी कार्ययोजना में जुट गए हैं।

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned