शुरू हो गई छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के बोर्ड की परीक्षाएं

पहले दिन 10 वीं कक्षा के परीक्षार्थिर्यों ने हिंदी विशिष्ट विषय की दी परीक्षा, जिले में बनाए गए हैं कुल 82 केंद्र, जिनमें 11 हजार 894 परीक्षार्थी होंगे शामिल

By: BRIJESH YADAV

Updated: 02 Mar 2019, 09:21 AM IST

जशपुरनगर. शुक्रवार १ मार्च से छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के बोर्ड की परीक्षाएं शुरु हो गईं हैं। पहले दिन 10 वीं कक्षा के परीक्षार्थी हिंदी विशिष्ठ की परीक्षा दी। बोर्ड परीक्षा के लिए जशपुर जिले में कुल 82 केंद्र बनाए गए हैं, जिनमें 11 हजार 894 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। परीक्षा के दौरान नकल प्रकरण रोकने करीब एक दर्जन उडऩदस्ता बनाया गया है। बोर्ड परीक्षाओं के लिए परीक्षार्थियों का इंतजार समाप्त हो गया है और उनके दिल की धडक़नें तेज हो गईं हैं।
जिला प्रशासन एवं शिक्षा विभाग ने परीक्षा केंद्रों में सारी तैयारियां कर ली हैं। गुरुवार को सभी परीक्षा केंद्रों में स्कूल के कर्मचारी परीक्षा कक्ष में डेस्क में परीक्षार्थियों के रोल नंबर अंकित करने का कार्य करते रहे। जिले में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा कुल 82 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। केंद्रों में निर्धारित समय में परीक्षा प्रारंभ हो जाएगी।
जिसके लिए कर्मचारियों की जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। परीक्षा में किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो और नकल प्रकरण पर अंकुश लगाने प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है। जिला शिक्षा अधिकारी के अलावा सभी एसडीएम के नेतृत्व में उडऩदस्ता तैयार किया गया है। जो परीक्षा केंद्रों की लगातार निगरानी करेंगे और निरीक्षण करेंगे। इनके अलावा अन्य अधिकारियों के भी उडऩदस्ते नकल प्रकरण रोकने में सक्रिय रहेंगे। साथ ही शिक्षा विभाग ने हर परीक्षा केंद्र के संबंधित थाना में एक कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। ये कर्मचारी परीक्षा खत्म होने के बाद थाने में नकल प्रकरण संबंधी जानकारी लेकर जिला कार्यालय को सूचित करेंगे।

संवेदनशील केंद्रों में रहेगी विशेष निगरानी : जिला शिक्षा अधिकारी बीआर ध्रुव ने बताया कि इस साल जिले में संवेदनशील केंद्रों के रुप में 10 परीक्षा केंद्र चिन्हांकित किए गए हैं। जिनमें प्रशासन व विभाग की लगातार नजर बनी रहेगी। वहीं सामूहिक नकल या किसी भी प्रकार का नकल रोकने के लिए प्रशासन सख्त है। परीक्षा केंद्रों में निगरानी रखने के लिए उडऩदस्ता दलों का गठन कर लिया गया है। जिला स्तर एवं ब्लॉक स्तर पर अलग-अलग दस्ते बनाए गए हैं। हर दल में एक महिला पर्यवेक्षक भी रहेगी। परीक्षा के दौरान उडऩदस्ता दल घूम-घूम कर परीक्षा केंद्रों पर नजर रखेगा। परीक्षा केंद्रों में मोबाइल व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।
हर दिन नकल प्रकरण होंगे अपडेट : जिले में नकल प्रकरणों के लिए कंट्रोल रूम की व्यवस्था की गई है। परीक्षा समाप्त होने के बाद जैसे ही संबंधित क्षेत्र के थाने में कापी जमा करने परीक्षा प्रभारी पहुचेंगे, वैसे ही वहां से कंट्रोल रूम को नकल प्रकरणों की सूचना दी जाएगी जिससे प्रतिदिन के नकल प्रकरणों का अपडेट हो सकेगा।

Show More
BRIJESH YADAV Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned