पुलिसकर्मियों के लिए बड़ी राहत की खबर

पुलिसकर्मियों के लिए बड़ी राहत की खबर

Saurabh Tiwari | Publish: Aug, 14 2019 08:17:28 PM (IST) Jashpur, Jashpur, Chhattisgarh, India

GOOD NEWS: महिलाओं के साथ पुलिसकर्मियों के बच्चों को खेलने के लिए मिलेगा सुरक्षित वातावरण, जशपुर सिटी कोतवाली में बनाया जा रहा है बाल मित्र कक्ष, जहां बच्चों के मनोरंजन के होंगे कई साधन

रुद्र दामन पाठक/ जशपुरनगर. अक्सर अभिभावक बच्चों की शरारतें रोकने उन्हें पुलिस का नाम लेकर डराते हैं। जिससे बाल मनोविज्ञान में पुलिस की नकारात्मक छवि बन जाती है। जशपुर पुलिस अब अपनी इसी छवि को बदलने के लिए सिटी कोतवाली में बाल मित्र कक्ष के रुप में एक अभिनव प्रयास शुरु कर रही है।
जशपुर जिले के इस प्रयोग से जहां बच्चों के मन से पुलिस के प्रति डर खत्म होगा। वहीं बच्चों को थानों में एक अलग ही माहौल मिल सकेगा। कई बार देखा जाता है कि महिलाएं अपने छोटे-छोटे बच्चों को साथ लेकर थाने में फरियाद लेकर आती हैं। महिलाओं के साथ बच्चे होने के कारण महिलाओं को अपना बयान दर्ज कराने में कई बार परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बच्चों को थाने में अलग महौल देने के लिए बाल मित्र कक्ष बनाया जा रहा है।
प्रदेश के डीजीपी ने बच्चों के मन से पुलिस का डर खत्म करने एवं अपने अभिभावको के साथ थाना आने वाले बच्चों को एक अलग महौल देने के लिए बालमित्र कक्ष का निर्माण करने का निर्देश प्रदेश के सभी एसपी को दिया था। डीजीपी के निर्देश पर जशपुर पुलिस ने इस पर अब अमल करना शुरु कर दिया है। जिले के जशपुर, कुनकुरी, बगीचा और पत्थलगांव थाने में बाल मित्र कक्ष बनाए जा रहे हैं, जहां अपने अभिभावको के साथ आने वाले बच्चे मंनोरंजन कर सकते हैं।
इसके साथ ही कई बार देखा जाता है कि थानो में पदस्थ महिला कर्मचारियों के द्वारा भी अपने छोटे बच्चों को लेकर ड्यूटी करने के लिए पहुंचती है। महिला कर्मचारियों के साथ छोटे बच्चे होने के कारण महिला कर्मचारी थानों में अपने कत्र्वयों का निर्वहन ठीक तरीके से नहीं कर पाती हैं और उनका ज्यादा समय बच्चों के देखरेख करने में ही गुजर जाता है। ऐसे में बाल मित्र कक्ष का निर्माण हो जाने से महिला कर्मचारी भी अपने बच्चों को बाल मित्र कक्ष में मनोरंजन करने के लिए छोड़ कर अपनी ड्यूटी आसानी से कर सकती हैं।

बाल मित्र कक्ष में मिलेंगे कार्टून : पुलिस थानों में जो बाल मित्र कक्ष का निर्माण कराया जा रहा है। उस कक्ष में बच्चों को उनके मन पंसद के कार्टून कैरेक्टर दिवारों में मिलेंगे। पुलिस के द्वारा कक्ष के दिवारों में कार्टून बनाकर उसे आकर्षक ढग़ से सजाया जा रहा है। इस कक्ष में प्रवेश करने के बाद लोगों का यह अहसास ही नहीं होगा कि वे किसी पुलिस थाने में पंहुच गए हैं। इस कक्ष को पूरी तरह से एक प्ले स्कूल की कक्ष की तरह सजाया जा रहा है।
कक्ष में रहेंगे मनोरंजन के साधन: पुलिस के द्वारा तैयार किए जा रहे बाल मित्र कक्ष में बच्चों के मनोरंजन के लिए हर तरह के संसाधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इस कक्ष के दिवारों में काटूर्न कैरेक्टर के साथ-साथ बच्चों के खेलने के लिए कई तरह के खिलौने भी रखे जाएंगे। इसके साथ ही साथ बच्चों के पढऩे के लिए कॉमिक्स के साथ-साथ कई ज्ञानवर्धक किताबों का भी संग्रह रहेगा,जिसके माध्यम से बच्चे ज्ञान प्राप्त कर सकें और उनके मन से पुलिस का डर खत्म हो सके।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned