श्मशान घाट में शव जलाने से पहले करनी पड़ती है साफ-सफाई

नगर पंचायत की उदासीनता से लोग होते हैं परेशान

By: Barun Shrivastava

Published: 24 May 2018, 07:07 AM IST

पत्थलगांव. शहर की बदबुदार गलियों व बजबजाती नालियों की तरह ही यहां का श्मशान घाट भी नगर पंचायत की उदासीनता का शिकार है। यहां अपने मृत परिजनो का शव लेकर पहुंचने वाले लोग इन दिनो श्मशान घाट मे फैली अव्यवस्था को देखकर नगर पंचायत को कोसते नजर आते हैं। शहर के श्मशान पहुंचने वाले लोगो को दाह क्रिया निपटाने से पहले मुर्दा जलाने वाली जगह की पहले साफ सफाई करनी पडती है।
इन दिनो स्थानीय मुक्तिधाम की नियमित साफ -सफाई ना होने के कारण वहां कचरे के अलावा मुर्दों के कफन का कपडा इधर-उधर बिखरा पड़ा आसानी से देखा जा सकता है। बताया जाता है कि इससे पहले नगर पंचायत की ओर से हर दिन सफाई कर्मचारियों को भेजकर मुक्तिधाम की नियमित सफाई कराई जाती थी, पर अब यहा से सफाई कर्मचारियों के अलावा संबंधित लोगो का ध्यान हट जाने से इन दिनो मुर्दे जलाने से पहले परिजनो को श्मशान स्थल की साफ सफाई करनी पड रही है।
फोटो खिंचवाकर भूल गए लोग : स्थानीय नगर पंचायत की उदासीनता को देखकर पिछले दिनो कुछ युवकों द्वारा मुक्तिधाम मे पौधा रोपने व साफ -सफाई करने का बीडा उठाया था, पर युवकों का यह दल मुक्तिधाम मे कुछ दिन अपनी सेवा देकर फोटो खिंचाने के बाद अब विलुप्त हो गया है। मुक्तिधाम मे अन्य अव्यवस्था के अलावा पीने के पानी की भी भारी किल्लत बनी हुई है। बताया जाता है कि शहर से लंबी दूरी तय कर शव यात्रा मे शामिल लोगो को यहा पहुंचने के बाद पीने के पानी की सबसे पहली जरूरत होती है। नगर पंचायत की ओर से यहा हैंडपम्प का खनन कराया गया था, परंतु रख-रखाव के अभाव मे यह हैंडपंप के बिगडने के बाद यहा पानी की समस्या लगातार बनी हुयी है।
बिजली व्यवस्था हुई बाधित : नगर के कुछ पार्षदों की पहल के बाद पिछले दो तीन वर्ष पहले पार्षद निधी से मुक्तिधाम मे विद्युत पोल लगाकर लाईन खिंची गई थी, लेकिन अक्सर यह लाईन बिगडे रहने के कारण आकस्मिक स्थिति मे देर शाम के दौरान दाह क्रिया निपटाने मे लोगो को कई बार भारी परेशानी का सामना करना पडता है। बताया जाता है कि यहा खिंची गई विद्युत लाईन के खंभो मे अक्सर खराबी के कारण विद्युत प्रवाहित ना होने से अधिकांश बार देर शाम या रात के आपातकालीन लाईट के जरिये दाह क्रिया निपटाई जाती है।

Barun Shrivastava Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned