जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जिला जेल का किया मुआयना

जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जिला जेल का किया मुआयना
जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जिला जेल का किया मुआयना

Saurabh Tiwari | Publish: Sep, 04 2019 08:00:00 PM (IST) Jashpur, Jashpur, Chhattisgarh, India

कहा बंदियों को नि:शुल्क विधिक सेवा का अधिकार

जशपुरनगर. जशपुर के जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष भीष्म पाण्डेय ने जिला जेल जशपुर का औचक निरीक्षण कर वहां की व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मनीष दुबे तथा विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अमित जिंदल उनके साथ थे।
ज्ञातव्य है कि जिला जेल जशपुर में शुक्रवार को ही विधिक सेवा शिविर का आयोजन किया गया था। जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेल के निरीक्षण के बाद वहां आयोजित विधिक सेवा शिविर में पहुंचे। शिविर में उपस्थित बंदियों से उन्होंने जिला जेल की व्यवस्था, भोजन, चिकित्सा सुविधा के बारे में भी जानकारी ली। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान में बंदियों को कई अधिकार प्रदान किए गए हैं। प्रत्येक बंदी से मानव गरिमा के अनुसार व्यवहार करना भारतीय संविधान का लक्ष्य है।
प्रत्येक बंदी को जेल में ईलाज भोजन आदि की व्यवस्था तथा नियमानुसार अपने परिजनों से मिलने का अधिकार है। प्रत्येक बंदी को नि:शुल्क विधिक सहायता प्राप्त करने का अधिकार है। यह अधिकार रिमांड स्तर से ही शुरू हो जाता है। शिविर में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दुबे एवं सचिव जिंदल ने बंदियों के हित संबंधि कानूनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर सहायक जेल अधीक्षक विजयानंद सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

बाल संप्रेषण गृह का भी किया मुआयना : इसके पश्चात् जिला एवं सत्र न्यायाधीश पाण्डेय ने बाल संप्रेषण गृह जशपुर का मुआयना किया और यहां आयोजित विधिक सेवा शिविर को संबाधित करते हुए उन्होंने कहा कि संविधान ने बच्चों को अनेक अधिकारी प्रदान किए हैं। कल्याणकारी राज्य की संकल्पना तभी पूरी हो सकती है जब बच्चों को पूर्ण विकास का अवसर प्रदान किया जाए। उन्होंने कहा कि 14 साल से कम आयु के बच्चों को नियोजन में नहीं लगाया जा सकता है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दुबे एवं सचिव अमित जिंदल ने भी इस मौके पर बच्चों से संबंधित विधिक प्रावधानों की विस्तार से जानकारी दी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned